Abram Shouted At Photographers For No Pictures

दि राइजिंग न्यूज़

आउटपुट डेस्क।

अंग्रेजी भाषा की ऑक्सफोर्ड डिक्शनरी में लगभग एक लाख से ज्यादा शब्द शामिल हैं, जबकि कोको नामक गोरिल्ला भी अमेरिकी सांकेतिक भाषा में 1000 से ज्यादा इशारों में संवाद करता है। लेकिन क्या आप दुनिया की सबसे छोटी भाषा के बारे में जानते हैं, जिसकी शब्दावली में केवल 120 शब्द हैं ? तो आइए हम आपको बताते हैं दुनिया की सबसे छोटी भाषा कौन सी है और उसकी विशेषता क्या हैं?

दुनिया की सबसे छोटी भाषा

दुनिया की सबसे छोटी भाषा का नाम टॉकी पॉना है, जिसका प्रारूप सबसे पहले साल 2001 में तैयार किया गया था, जबकि पूरी किताब या ई-बुक के रूप में “टॉकी पॉना: एक अच्छी भाषा” के रूप में साल 2014 में प्रकाशित किया गया था। इस पुस्तक को टोरंटो के अनुवादिकाक और भाषाविदूषी सोना लैंग द्वारा डिजाइन किया गया था।

पिजिन की तरह टॉकी पॉना उन सरल अवधारणाओं और तत्वों पर केंद्रित है, जो दुनिया की विभिन्न संस्कृतियों के बीच अपेक्षाकृत सार्वभैमिक हैं। लैंग ने इस भाषा को न्यूनतम जटिलता के साथ अधिक से अधिक अर्थ व्यक्त करने के लिए डिजाइन किया गया था। इस भाषा में 14 ध्वनियां और लगभग 120 मूल शब्द हैं। इसे एक अंतरराष्ट्रीय सहायक भाषा के रूप में तैयार नहीं किया गया है, लेकिन ये “ताओवादी” दर्शन से प्रेरित है।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement