Anil Kapoor Will be Seen in The Character of Shah jahan in Next Project

 

दि राइजिंग न्यूज़

आउटपुट डेस्क।

क्या आप डरावनी फिल्में देखने के शौकीन हैं? इस बात पर ध्यान दीजिए जो हम आपको बताने जा रहे हैं। कुछ स्टडीज़ ने अपनी रिपोर्ट्स में दावा किया है कि डरावनी फिल्में देखने से हेल्थ संबंधी काफी फायदे होते हैं। हालांकि ये हेल्थ बेनिफिट्स इस बात पर डिपेंड करते हैं कि आप डरावनी फिल्में देखते वक्त किस हद तक डरते हैं। आइए जानते हैं कि डरावनी फिल्मों के लेकर इन स्टडीज़ का क्या कहना है:

​कैलरी बर्न होती है

2012 में यूके में यूनिवर्सिटी ऑफ वेस्टमिंस्टर में की गई एक स्टडी के दौरान 10 लोगों से अलग-अलग डरावनी फिल्में देखने के लिए कहा गया। इस दौरान उन लोगों की हार्ट बीट, कार्बन डाई ऑक्साइड आउटपुट और कितनी ऑक्सीजन ली, इन सब चीज़ों को मॉनिटर किया गया। जिस शख्स ने सबसे ज़्यादा डरावनी फिल्म देखी, वह सबसे ज़्यादा डरा और कई बार उछला भी। इससे उसने 184 कैलरी बर्न कीं। यह एक स्ट्रेसफुल स्टिम्लाई (stressful stimuli) की वजह से होता है, जिसके कारण एड्रेनलिन हॉर्मोन रिलीज़ होता है। इसकी वजह से आपके दिल की धड़कनें बढ़ जाती हैं और आपकी बॉडी से एनर्जी रिलीज़ होने लगती है।

​इम्यून सिस्टम में सुधार

जर्नल स्ट्रेस में पब्लिश हुई एक स्टडी के अनुसार डरावनी फिल्म देखने की वजह से आपका इम्यून सिस्टम भी सुधर जाता है और इम्यूनिटी बढ़ जाती है। अब यह कितना सच है यह तो पता नहीं, लेकिन इस स्टडी में कुछ ऐसा ही दावा किया गया है।

​मूड में सुधार

एक सोशियोलॉजिस्ट के अनुसार, नेगेटिव स्टिमुलाई (negative stimuli) के पैदा होने की वजह से आपके मूड में काफी सुधार होता है। लोग कम चिंता महसूस करते हैं और उनकी चिड़चिड़ाहट भी कम हो जाती है।

​इस स्थिति में नहीं मिलेगा फायदा

ये स्टडीज़ दावा करती हैं कि जो जो लोग डरावनी फिल्म देखने के बाद डरा हुआ महसूस नहीं करेंगे, उन्हें ये फायदे नहीं मिलेंगे। इसलिए इन फायदों के लिए थोड़ा डरना और थ्रिल महसूस करना ज़रूरी है।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement