Crowd Rucuks At Sapna Chaudhary Program in Begusaray of Bihar

दि राइजिंग न्यूज़

आउटपुट डेस्क।

 

छठ की पूजा विधि क्या है?

  • कुल मिलाकर यह पर्व चार दिनों तक चलता है।

  • इसकी शुरुआत कार्तिक शुक्ल चतुर्थी से होती है और सप्तमी को अरुण वेला में इस व्रत का समापन होता है।

  • कार्तिक शुक्ल चतुर्थी को "नहा-खा" के साथ इस व्रत की शुरुआत होती है। इस दिन से स्वच्छता की स्थिति अच्छी रखी जाती है। इस दिन लौकी और चावल का आहार ग्रहण किया जाता है।

  • दूसरे दिन को "लोहंडा-खरना" कहा जाता है। इस दिन उपवास रखकर शाम को खीर का सेवन किया जाता है। खीर गन्ने के रस की बनी होती है। इसमें नमक या चीनी का प्रयोग नहीं होता।

  • तीसरे दिन उपवास रखकर डूबते हुए सूर्य को अर्घ्य दिया जाता है। साथ में विशेष प्रकार का पकवान "ठेकुवा" और मौसमी फल चढाएं। अर्घ्य दूध और जल से दिया जाता है।

  • चौथे दिन बिल्कुल उगते हुए सूर्य को अंतिम अर्घ्य दिया जाता है। इसके बाद कच्चे दूध और प्रसाद को खाकर व्रत का समापन किया जाता है।

  • इस बार पहला अर्घ्य 13 नवंबर को संध्या काल में दिया जाएगा और अंतिम अर्घ्य 14 नवंबर को अरुणोदय में दिया जाएगा।

छठ पूजा या व्रत के लाभ क्या हैं?

  • जिन लोगों को संतान न हो रही हो या संतान होकर बार-बार समाप्त हो जाती हो ऐसे लोगों को इस व्रत से अद्भुत लाभ होता है।

  • अगर संतान पक्ष से कष्ट हो तो ये व्रत लाभदायक होता है।

  • अगर कुष्ठ रोग या पाचन तंत्र की गंभीर समस्या हो तो भी इस व्रत को रखना शुभ होता है।

  • जिन लोगों की कुंडली में सूर्य की स्थिति ख़राब हो या राज्य पक्ष से समस्या हो ऐसे लोगों को भी इस व्रत को जरूर रखना चाहिए।

व्रत की सावधानियां क्या हैं?

  • ये व्रत अत्यंत सफाई और सात्विकता का है।

  • इसमें कठोर रूप से सफाई का ख्याल रखना चाहिए।

  • घर में अगर एक भी व्यक्ति छठ का उपवास रखता है तो बाकी सभी को भी सात्विकता और स्वच्छता का पालन करना पड़ेगा।

  • व्रत रखने के पूर्व अपने स्वास्थ्य की स्थितियों को जरूर देख लें।

  • व्रत रखने वाले व्यक्ति को भोजन बनाने में सामान जुटाने में सहायता करें।

  • स्वयं भी चार दिनों तक सात्विक रहें।

  • अर्घ्य के समय भगवान सूर्य को जरूर अर्घ्य दें।

  • अंतिम दिन प्रातः व्रती के चरण स्पर्श करके उसका आशीर्वाद लें और प्रसाद ग्रहण करें

  • अंतिम दो दिनों में अर्घ्य के समय "ॐ आदित्याय नमः" का 108 बार जाप करें।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement