Coffee With Karan Sixth Season Teaser Released

दि राइजिंग न्यूज़

आउटपुट डेस्क।

 

1 नवंबर भारतीय लोकतंत्र के लिहाज से काफी अहम है क्योंकि मौजूदा समय में इसी दिन कई राज्यों की स्थापना हुई थी। देश के कई बड़े राज्यों का गठन 1956 में राज्य पुनर्गठन की वजह से इसी दिन हुआ। इसके अलावा कुछ अन्य राज्य भी इस दिन स्थापित हुए।

 

कर्नाटक: 1 नवंबर 1956 – इस दिन राज्य पुनर्गठन के तहत दक्षिण भारत के कन्नड़ भाषी जिलों को मिलाकर एक नया राज्य बनाया गया। 1905 से चले आ रहे कर्नाटक एकीकरण आंदोलन का ये रिजल्ट आज राज्योत्सव के रूप में मनाया जाता है। मैसूर के रजवाड़े के साथ बॉम्बे और मद्रास (तत्कालीन राज्य) के कन्नड़ भाषी जिलों को नए कर्नाटक में शामिल किया गया था।

केरल: 1 नवंबर 1956 – भाषा के आधार पर दक्षिण भारत का एक और राज्य पुनर्गठित हुआ जो था केरल। मालाबार, कोच्चि और ट्रेवेनकोर के रूप में 3 अलग-अलग यूनियन को जोड़कर ये राज्य बनाया गया।

मध्य प्रदेश: 1 नवंबर 1956 – इस दिन मध्य भारत, विंध्य प्रदेश और भोपाल की रियासत को मिलाकर भारत के बीचोंबीच आने वाले इस राज्य का पुनर्गठन हुआ। आजादी के बाद एमपी को जो रूप मिला था, वो पुनर्गठन के बाद काफी बदल गया। 2000 तक मध्य प्रदेश, क्षेत्रफल यानि एरिया के हिसाब से भारत का सबसे बड़ा राज्य था।

हरियाणा: 1 नवंबर 1966  – इस दिन भाषा के आधार पर पूर्वी पंजाब से अलग होकर हरियाणा का गठन किया गया था। ये राज्य पंजाब, राजस्थान और हिमाचल प्रदेश की सीमा से लगता है। साथ ही उत्तर प्रदेश और दिल्ली से भी इसका अच्छा खासा हिस्सा जुड़ा है।

हिमाचल प्रदेश: 1 नवंबर 1966 – 1956 को 1 नवंबर के दिन ही हिमाचल प्रदेश को केंद्र शासित प्रदेश का दर्जा मिला।  ठीक 10 साल बाद तत्कालीन पंजाब को अलग कर उसके कुछ जिले हिमाचल से जोड़कर नया राज्य बनाया गया।

छत्तीसगढ़: 1 नवंबर 2000 – इस दिन दक्षिण-पूर्वी मध्यप्रदेश के छत्तीसगढ़ी बोलने वाले 16 जिलों को अलग से मिलाकर एक नया राज्य बनाया गया। आज इस राज्य में कुल 27 जिले हैं। इसकी सीमा एमपी, महाराष्ट्र, तेलंगाना, झारखंड, यूपी, ओडिशा से लगती है।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement