Complaint Filed Against Aditya Pancholi At Versova Police Station

 

दि राइजिंग न्यूज़

आउटपुट डेस्क

 

ज्योतिष गणना के अनुसार जब सूर्य मकर राशि में प्रवेश करता है तो उस दिन को मकर संक्रांति कहा जाता है। इस दिन सूर्य दक्षिणायन से उत्तरायण होते हैं। इसलिए मकर संक्रांति पर सूर्य की पूजा का विशेष महत्व है। इसके अलावा मकर संक्रांति पर राशिच्रक में काफी महत्तवपूर्ण परिवर्तन होता है। वर्ष में 12 संक्रातियां आती हैं, लेकिन उनमें से सबसे अधिक खास मकर संक्रांति को दिया जाता है।

दरअसल, मकर संक्रांति को खेत-खलियानों, फसलों से जुड़े हुए त्योहार के रूप में भी मनाया जाता है। असल में मकर संक्रांति वह समय है, जब हमारे खेतों में फसलें तैयार हो चुकी होती हैं और हम फसलों के तैयार हो जाने की खुशियां मनाते हैं। संक्रांति के दिन ही हम हर उन चीजों का आभार प्रकट करते हैं, जिसने खेती तथा फसल उगाने में हमारी सहायता की है। खेती करने में कृषि से जुड़े हुए पशुओं का एक महत्वपूर्ण और बड़ा योगदान होता है, इनके बिना तो खेती करना असंभव सा है, इसलिए उनके लिए भी मकर संक्रांति का एक दिन होता है।

 

मकर संक्रांति का पहला दिन धरती का, दूसरे दिन मानव का और तीसरे दिन मवेशियों का होता है। धरती को प्रथम स्थान इसलिए दिया गया है, क्योंकि धरती से ही हमारा अस्तित्व है। इसलिए मकर संक्रांति को फसलों का त्योहार भी कहते हैं।

https://www.therisingnews.com/?utm_medium=thepizzaking_notification&utm_source=web&utm_campaign=web_thepizzaking&notification_source=thepizzaking

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement