गुड़गांव: सेक्टर 9 में अपहरण की कोशिश मामले में 2 आरोपी गिरफ्तार

जम्मू कश्मीर की सीएम और डिप्टी सीएम ने किया करगिल का दौरा

सपा के पूर्व नेता अशोक वाजपेयी और स्वेता सिंह बीजेपी में शामिल

राजस्थान: चित्तौड़गढ़ से 8 लाख के अमान्य नोटों के साथ 2 लोगों की गिरफ्तारी

लुधियाना सिटी सेंटर घोटाले में विजीलेंस ब्यूरो से CM अमरिंदर सिंह को क्लीन चिट

  • कुलभूषण प्रकरण पर अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय के फैसले को कैसा मानते हैं?
  • पाकिस्तान कोर्ट द्वारा कुलभूषण जाधव को फांसी की सजा गुरुवार को अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय ने रोक दी। यही नहीं, पर्याप्त साक्ष्यों के अभाव में न्यायालय ने पाकिस्तान द्वारा कुलभूषण जाधव को फांसी दिए जाने पर अंतर्राष्ट्रीय प्रतिबंध लगाने की भी चेतावनी दे दी। यही नहीं, न्यायालय ने कुलभूषण जाधव को वियना संधि के तहत पक्ष रखने के लिए पक्षकार तैनात करने तथा सुनवाई करने को कहा है। इस पूरे प्रकरण को भारत की अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर जीत माना जा रहा है तो पाकिस्तान के मंसूबों की हार की तरह देखा जा रहा है। देश भर में पाकिस्तान की इस किरकिरी तथा कुलभूषण की फांसी पर रोक पर जश्न जैसा माहौल है। अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पाक की साजिश व नापाक इरादों की कलई खुलने के बाद दि राइजिंग न्यूज ने राजधानी में लोगों से पूरे प्रकरण व रवैये की बाबत उनकी राय जाननी चाही। लोगों ने अपनी जो राय रखी, वह कुछ इस तरह थीं . . .
Public Poll
Public Poll
Public Poll
Public Poll
Public Poll
Public Poll
Public Poll
Public Poll
Public Poll
Public Poll
Public Poll
Public Poll
Public Poll
Public Poll
Public Poll
Public Poll
Public Poll
Public Poll
Public Poll

  • लोगों ने साफ तौर पर माना है कि अंतर्राष्ट्रीय न्यायालय के फैसले के बाद अब सबके सामने पाकिस्तान का असली चेहरा सामने आ गया है। केवल भारत ही नहीं, विश्व भर में पाकिस्तान की घिनौनी हकीकत की कलई खुल गई है। इसका अंदाजा इससे भी लगाया जा सकता है कि न्यायालय ने भी पाकिस्तान को कुलभूषण के साथ कुछ न करने के सख्त निर्देश दिए हैं। अन्यथा अंतर्राष्ट्रीय प्रतिबंध की चेतावनी भी दी। इस पूरे प्रकरण से पाकिस्तान पूरी तरह से बेनकाब हो चुका है और उसकी स्थिति खिसयानी बिल्ली वाली हो गई है। मगर इसके बाद अब देश में कहीं ज्यादा सतर्कता की जरूरत भी है।