Home International News US Lawmakers Protest Against Change In H-1B Visa

27-28 अप्रैल को वुहान में चीनी राष्ट्रपति से मिलेंगे पीएम मोदी

भगवान के घर देर है अंधेर नहीं: माया कोडनानी

हैदराबाद: सीएम ऑफिस के पास एक बिल्डिंग में लगी आग

पंजाब: कर्ज से परेशान एक किसान ने ट्रेन के आगे कूदकर दी जान

देश में कानून को लेकर दिक्कत नहीं बल्कि उसे लागू करने को लेकर है: आशुतोष

ट्रम्प प्रशासन परेशान, अमेरिकी सांसदों ने की इस बदलाव की मांग

International | Last Updated : Jan 06, 2018 01:31 PM IST
   
US Lawmakers Protest Against Change In H-1B Visa

दि राइजिंग न्यूज़

इंटरनेशनल डेस्क।

 

कई अमेरिकी सांसदों और संगठनों ने ट्रंप प्रशासन के उस प्रस्ताव की आलोचना की है, जिसमें एच-1बी वीजा का एक्सटेंशन यानी विस्तार रोकने की बात कही गई है। सांसदों का कहना है कि इससे प्रतिभाशाली लोग अमेरिका से चले जाएंगे। वीजा नियम कठोर होने से पांच साल से 7.5 लाख भारतीयों को अमेरिका छोड़कर स्वदेश लौटना पड़ सकता है। कहा जा रहा है कि राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की बाय अमेरिकी, हायर अमेरिकी नीति को बढ़ावा देने के लिए डिपार्टमेंट ऑफ होमलैंड सिक्योरिटी ने यह ड्राफ्ट तैयार कर लिया है।

प्रभावशाली डेमोक्रेट सांसद तुलसी गबार्ड ने कहा कि वीजा नियम कठोर होने से परिवार बिखर जाएंगे। प्रतिभाशाली लोग हमारे समाज से चले जाएंगे और अमेरिकी के महत्वपूर्ण सहयोगी देश भारत से रिश्ते खराब होंगे। लाखों भारतीयों को देश छोड़ना पड़ेगा, जिनमें से कई छोटे बिजनेस के मालिक हैं और नौकरियां पैदा कर रहे हैं। इन लोगों से अमेरिकी अर्थव्यवस्था को ताकत मिलती है।

भारतीय अमेरिकी सांसद राजा कृष्णामूर्ति और रो खन्ना का कहना है कि यह प्रस्ताव प्रवासी विरोध है। हमारे माता-पिता समेत सुंदर पिचाई, एलेन मस्क, सत्य नडेला भी यूं ही अमेरिका आए थे और आज ट्रंप कह रहे हैं कि प्रवासी व उनके बच्चों की अमेरिका में कोई जगह नहीं है। इमिग्रेशन वायर और हिंदू अमेरिकन फाउंडेशन जैसे संगठनों ने भी ट्रंप प्रशासन के इस फैसले का विरोध किया है।


"जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555




Flicker News

Loading...

Most read news


Most read news


Most read news


Loading...

Loading...