Home News UP CM Yogi Adityanath And BJP Wins Nagar Nikay Chunav 2017

कांग्रेस दफ्तर के बाहर पटाखे फोड़कर जश्न मना रहे हैं कार्यकर्ता

J&K: त्राल में मिला जैश के एक आतंकी का शव, पाकिस्तान का नागरिक था

दिल्ली: विजय दिवस पर रक्षा मंत्री और सेना प्रमुख ने शहीदों को दी श्रद्धांजलि

मिजोरम के हर घर में बिजली पहुंचाने का लक्ष्यः PM मोदी

दिल्ली: सोनिया गांधी के साथ कांग्रेस मुख्यालय पहुंचे राहुल गांधी

कई गुना बढ़ गया योगी का कद

Editorial | 01-Dec-2017 17:50:54 | Posted by - Admin
  • नगर निकाय में विपक्षी दल भी नहीं बन सकी सपा
   
UP CM Yogi Adityanath and BJP wins Nagar Nikay Chunav 2017

दि राइजिंग न्‍यूज

संजय शुक्ल

 

प्रदेश में नगर निकाय चुनावों में जबरदस्त सफलता अर्जित कर सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपनी पहली अग्निपरीक्षा में सफलता का परचम लहरा अपितु उन्होंने अपना कद भी कई गुना बढ़ा लिया। चुनाव प्रबंधन से लेकर सरकार चलाने तक में उनकी दक्षता ने विपक्षियों की बोलती बंद कर दी है। लोकसभा, विधान सभा और उसके बाद अब निकाय चुनाव में विपक्ष को चारों खाने चित्त कर भारतीय जनता पार्टी ने अपना दबदबा भी दिखा दिया है। दरअसल प्रदेश में निकाय चुनाव के नतीजे गुजरात में भाजपा के प्रदर्शन से जोड़ कर देखे जा रहे थे और अब यह तय है कि गुजरात में चुनाव प्रचार में लगे योगी आदित्यनाथ की धमक कहीं ज्यादा बढ़ेगी। प्रदेश के  निकाय चुनाव कई मायने में इस बार कुछ अलग थे। पहली किसी मुख्यमंत्री ने निकाय चुनाव की भागदौड़ अपने हाथ में ली थी। प्रचार की कमान खुद संभाली और उसके बाद जो नतीजे आए, उससे उनका लोहा अब विपक्षी भी मान रहे हैं। चुनाव की खास बात यह भी रही कि समाजवादी पार्टी से प्रमुख विपक्षी दल होने का तमगा भी चला गया। नगर निकायों में अब विपक्ष के रूप में बसपा ही दिखाई दे रही है।

वैसे निकाय चुनाव में बहुजन समाज पार्टी, कांग्रेस, समाजवादी पार्टी तथा आम आदमी पार्टी सभी मुकाबिल थे लेकिन विपक्षी दल शुरु से ही वाक ओवर देने के मूड में दिखे। परिवार की कलह से पस्त समाजवादी पार्टी के नेता आपसी खींचतान में ज्यादा व्यस्त रहें। मुंहजबानी भाजपा को करारी टक्कर देने का दम भरा जाता रहा लेकिन कोई बड़ा नेता सामने नहीं आया। उसका नतीजा भी सामने है। प्रदेश में 16 में एक भी मेयर पद समाजवादी पार्टी को नहीं मिला। कांग्रेस का हाथ तो चुनाव के पहले ही तंग था जबकि बहुजन समाज पार्टी ने जरूर सभी को चौंकाया।

बसपा के दो प्रत्याशी मेयर चुनाव जीते। एक जगह पर बसपा प्रत्याशी भाजपा के बराबर वोट पाईं लेकिन टास के जरिए हुए फैसले में हार गईं। नगर पालिका और नगर परिषद में भी बसपा विपक्ष के तौर में उभर कर आई। समाजवादी पार्टी तीसरे नंबर पर पहुंच गई। समाजवादी पार्टी के लिए अब आगे की डगर आसान नहीं दिख रही है। कारण है कि पार्टी की कमान संभालने के बावजूद पूर्व मुख्यमंत्री एवं राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव पूरी तरह से उदासीन ही दिखे। सोशल मीडिया पर जरूर उन्होंने प्रदेश सरकार कुछ तंज कसे लेकिन प्रदेश की जनता ने उन्हें जो जवाब दिया, उसे अब वह बाखूबी समझ रहे होंगे।

"जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555








TraffBoost.NET

Rising Stroke caricature
The Rising News Public Poll





Flicker News

Most read news

 


Most read news


Most read news




sex education news