Box Office Collection of Dhadak and Student of The Year

दि राइजिंग न्यूज़

इस्लामाबाद।

 

पाकिस्तानी सेना ने खुफिया एजेंसी आइएसआइ के आतंकियों के साथ संबंधों को स्वीकार कर लिया है। गुरुवार को पाकिस्तानी सेना ने कहा खुफिया एजेंसी इंटर सर्विस इंटेलीजेंस आतंकियों से संपर्क में है। बाद में सफाई देते हुए पाक सेना ने कहा कि इसका यह मतलब बिल्कुल भी नहीं है कि हम आतंकी संगठनों का समर्थन करते हैं।

उन्होंने यह भी कहा कि मिल्ली मुस्लिम लीग जोकि आतंकी संगठन जमात उद दावा की राजनीतिक शाखा है, को चुनाव लड़ने की स्वतंत्रता है। आपको बता दें कि मिल्ली मुस्लिम लीग के चुनाव लड़ने पर चुनाव आयोग ने रोक लगा दी थी।

यूएस के द्वारा पाकिस्तान पर दिए गए बयान के बाद इंटर सर्विस पब्लिक रिलेशन के डायरेक्टर जनरल मेजर आसिफ गफूर ने कहा कि समर्थन और संपर्क में बहुत अंतर होता है। किसी भी ऐसी इंटेलीजेंस एजेंसी का नाम बताइये जिसके संपर्क न हों। संपर्क सकारात्मक हो सकते हैं।

अमेरिका के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए पाक जनरल ने कहा कि यूएस के रक्षामंत्री जेम्स मैटिस ने यह नहीं कहा था कि हम आतंकियों का समर्थन करते हैं। आपको बता दें कि अमेरिकी यूएस जनरल जोसेफ डनफोर्ड ने कहा था कि आइएसआइ के तार न केवल आतंकी संगठनों से जुड़े हैं बल्कि पाक से अलग उसकी अपनी एक अलग फॉरेन पॉलिसी भी है।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll