Home International News PAK Using Weapons Against India Take From US

कुशीनगर के विधायक रजनीकांत मणि त्रिपाठी को मिली धमकी

J-K: पाकिस्तान की ओर से फायरिंग में अब तक 6 नागरिक घायल

मद्रास हाईकोर्ट ने तूतीकोरिन में स्टरलाइट प्लांट के विस्तार पर लगाई रोक

दिल्लीः कैबिनेट की बैठक शुरू, तेल की कीमतों पर हो सकता है फैसला

कर्नाटकः शपथ ग्रहण के खिलाफ BJP के विरोध-प्रदर्शन में शामिल हुए येदियुरप्पा

यूएस से हथियार लेकर भारत के खिलाफ इस्तेमाल कर रहा PAK

International | Last Updated : Feb 11, 2018 11:28 AM IST

PAK Using Weapons Against India Take From US


दि राइजिंग न्‍यूज

इंटरनेशनल डेस्‍क।

 

भारत ने पाकिस्‍तान को अमेरिका के सामने एक बार फिर बेनकाब कर दिया है। पाकिस्तान आतंकी संगठन तालिबान के खिलाफ लड़ाई के नाम पर अमेरिका से हथियार हासिल करता है और फिर इनका इस्तेमाल भारत के खिलाफ करता है। इस बाबत भारत ने अमेरिका को सबूत सौंपे हैं।

भारत ने कहा कि अमेरिका ने तालिबान के खिलाफ लड़ाई के लिए पाकिस्तान को US TOW-2A एंटी-टैंक गाइडेड मिसाइल जैसे हथियार दिए है, लेकिन वह इसका इस्तेमाल भारतीय सेना के खिलाफ कर रहा है।

अमेरिकी हथियारों से पाकिस्तान लगातार नियंत्रण रेखा (एलओसी) और अंतरराष्ट्रीय सीमा (आइबी) पर फायरिंग कर रहा है और भारतीय सुरक्षा बलों और चौकियों को निशाना बना रहा है। पिछले डेढ़ महीने में पाकिस्तान की ओर से किए गए सीजफायर उल्लंघन में अब तक कम से कम नौ भारतीय सैनिक शहीद हो चुके हैं।

TOW-2A एंटी-टैंक मिसाइल को अमेरिका ने विकसित किया था, जिसको पाकिस्तान ने आत्मरक्षा और अफगानिस्तान में आतंकियों के खिलाफ अमेरिकी ऑपरेशंस का सपोर्ट करने के लिए खरीदा था। अक्टूबर 2007 में अमेरिकी कांग्रेस ने पाकिस्तान को 2000 एंटी-टैंक गाइडेड मिसाइल देने का रास्ता साफ किया था।

पाकिस्तान अमेरिका से जिन हथियारों को आतंकियों के खिलाफ लड़ने के लिए मांगता है, उनका इस्तेमाल भारत के खिलाफ कर रहा है। हाल ही में अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने आतंकवाद को पनाह देने को लेकर पाकिस्तान पर करारा हमला बोला था। नए साल पर अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पाकिस्तान पर अमेरिका को “झूठ और धोखे” के सिवाए कुछ न देने की बात कही थी।

इसके साथ ही ट्वीट में लिखा था कि पिछले 15 सालों में 33 अरब डॉलर की सहायता देने के बदले में पाकिस्तान ने आतंकवादियों को “पनाह” देने का काम किया है। ट्रंप के इस ट्वीट के बाद ही अमेरिका ने एक्शन लिया और पाकिस्तान को दिए जाने वाले फंड पर रोक लगा दिया। पाकिस्तान की हरकत को अमेरिका पहले ही समझ चुका है। लिहाजा वह पाकिस्तान के खिलाफ अपना रुख साफ कर चुका है।

वहीं, हाल के दिनों में भारत और अमेरिका के बीच रक्षा सहयोग में इजाफा हुआ है। साल 2015 में भारत और अमेरिका के बीच 10 साल के डिफेंस फ्रेमवर्क एग्रीमेंट को रिन्यू हुआ था। इसके एक साल बाद अमेरिका ने भारत को बड़े रक्षा भागीदार का दर्जा दे दिया।



" जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555 "


Loading...


Flicker News

Loading...

Most read news


Most read news


rising@8AM


Loading...