Neha Kakkar Crying gets Emotional in Memories of Ex Boyfriend Himansh Kohli

दि राइजिंग न्‍यूज

देहरादून।

 

उत्‍तराखंड विधानसभा बजट सत्र के दूसरे दिन भी विपक्ष ने जहरीली शराब मामले को लेकर सदन में दबाव बनाया। जिसके बाद स्पीकर ने प्रश्नकाल स्थगित करते हुए चर्चा की अनुमति दी। जिस पर विपक्ष ने नियम 310 में चर्चा की मांग की, जिसके बाद इस पर चर्चा की गई। चर्चा के दौरान नेता प्रतिपक्ष इंदिरा ह्रदेयेश, प्रीतम सिंह, ममता राकेश, गोविंद कुंजवाल, करण माहरा, हरीश धामी ने सरकार का इस्तीफा मांगा।

वहीं, विपक्ष के विधायकों ने आबकारी मंत्री से नैतिकता के आधार पर इस्तीफा मंगा। वहीं, देहरादून विधानसभा में अधिकारियों के सोशल मीडिया में चर्चा का मुद्दा गूंजा। बजट सत्र के चलते विधानसभा व इसकी 300 मीटर की परिधि में धारा-144 लागू कर दी गई है।

धारा-144

धारा-144 लागू होने से कोई भी व्यक्ति प्रतिबंधित क्षेत्र में लाइसेंसी हथियार, लाठी, हाकी, तलवार या धारदार हथियार लेकर प्रवेश नहीं कर सकेगा। अपर जिलाधिकारी प्रशासन अरविंद पांडेय ने बताया कि विधानसभा सत्र के दौरान किसी भी प्रकार की नारेबाजी करने, लाउडस्पीकर का प्रयोग करने, सरकारी भवनों पर नारे लिखना, सांप्र्रदायिक भावना भड़काने वाले उत्तेजक भाषण देना, किसी भी प्रकार के भ्रामक साहित्य का प्रचार प्रतिबंधित है। ऐसा करने वालों के खिलाफ नियमानुसार कार्रवाई की जाएगी।

इसके अलावा विधानसभा व इसके आसपास पांच से अधिक लोगों का एक जगह एकत्रित होना प्रतिबंधित है। विधानसभा के आसपास बसों, ट्रैक्टर ट्रालियों अथवा चौपहिया वाहनों के जुलूस की शक्ल में एकत्र होने पर प्रतिबंध लगाया गया है। वहीं विधानसभा सत्र के पहले दिन सदन मात्र 10 मिनट ही चला। भोजनावकाश के बाद विपक्ष की गैर मौजूदगी में स्पीकर ने ने राज्यपाल का अभिभाषण और संकल्प प्रस्तावों को पढ़ा। इसके बाद मंगलवार सुबह 11 बजे तक के लिए सदन स्थगित किया।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement