Home International News Latest And Trending Updates Over Zimbabwe

7 लड़कियों और 11 लड़कों समेत 18 बच्चों को मिलेगा नेशनल ब्रेवरी अवॉर्ड

पद्मावत के रिलीज वाले दिन जनता कर्फ्यू लगाया जाएगा: कलवी

लखनऊ: ब्राइटलैंड स्कूल के प्रिसिंपल को पुलिस ने किया गिरफ्तार

फिल्म पद्मावत पर बोले अनिल विज- SC ने हमारा पक्ष सुने बिना फैसला दिया

उत्तर प्रदेश में गोरखपुर महोत्सव आज से शुरू

जिम्बाब्वे में तख्तापलट की आशंका

International | 15-Nov-2017 11:15:37 | Posted by - Admin
   
Latest and Trending Updates over Zimbabwe

दि राइजिंग न्यूज़

इंटरनेशनल डेस्क।

 

जिम्बाब्वे में तख्तापलट के बादल मंडरा रहे हैं। राजधानी हरारे की सड़कों पर मंगलवार को सेना को देखा गया है। देश में राजनीतिक अस्थिरता के बीच सेना प्रमुख जनरल कॉन्स्टेनियो चिवांगे ने सत्तारूढ़ दल के सदस्यों को सीधी चेतावनी दे दी है। रिपोर्ट के मुताबिक सेना ने सरकारी चैनल जेडबीसी पर कब्जा कर लिया है। राष्ट्रपति रॉबर्ट मुगाबे के आवास के बाहर कई राउंड गोलियां भी चलने की खबर है। इस बीच अमेरिका और ब्रिटेन ने अपने नागरिकों के लिए एडवाइजरी जारी कर दी है।

 

खबरों के मुताबिक हरारे की सड़कों पर सशस्त्र बल टैंकों के साथ उतर आया है। बुधवार तड़के तीन बड़े धमाकों को सुना गया है। बताया जा रहा कि स्टेट ब्रॉडकास्टर जेडबीसी पर भी आर्मी ने कब्जा जमा लिया है। सरकार ने सेना पर विश्वासघाती बर्ताव करने का आरोप लगाया है।

समाचार एजेंसी की खबर के मुताबिक एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया कि उसने राष्ट्रपति रॉबर्ट मुगाबे के हरारे स्थित निजी आवास के पास धमाकों की आवाज सुनी है। तीन से चार मिनट के भीतर 30-40 राउंड फायरिंग की आवाज भी आई है। यूनिवर्सिटी ऑफ जिम्बाब्वे के पास भी धमाके की आवाज सुनी गई है। 

 

जिम्बाब्वे के आर्मी चीफ की तरफ से सैन्य हस्तक्षेप की चेतावनी दिए जाने के बाद सत्ताधारी पार्टी ने उन पर देशद्रोहपूर्ण गतिविधि में शामिल होने का आरोप लगाया है। कुछ दिन पहले राष्ट्रपति मुगाबे ने उप राष्ट्रपति को बर्खास्त कर दिया था। इसी के बाद से सेनाहरकत में आई है। जनरल चिवेंगा ने चेतावनी दी थी कि सत्ताधारी पार्टी में चल रही उथल-पुथल को खत्म करने के लिए सेना हस्तक्षेप करेगी।

जिम्बाब्वे में गहराए इस संकट को देखते हुए अमेरिका, ब्रिटेन समेत कुछ देशों ने वहां रह रहे अपने नागरिकों के लिए एडवाइजरी जारी कर दी है। इसमें अपने नागरिकों से घरों और होटलों में ही रहने को कहा गया है। उन्हें साफ शब्दों में कहा गया है कि हालात सुधरने तक कोई भी बाहर न निकले। अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने बयान जारी कर कहा कि वह स्थिति की निगरानी कर रहा है। विदेश मंत्रालय ने सभी पक्षों से शांतिपूर्ण हल निकालने की अपील की है।

 

राष्ट्रपति रॉबर्ट मुगाबे और सेना के बीच पहली बार यह तकरार दिख रही है। मुगाबे 1980 से जिम्बाब्वे के राष्ट्रपति हैं।

"जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555








TraffBoost.NET

Rising Stroke caricature
The Rising News Public Poll





Flicker News

Most read news

 


Most read news


Most read news