Avengers Endgame on Box Office

दि राइजिंग न्यूज़

देहरादून।

 

बुधवार को एक राज्य में एक बड़ी रेल दुर्घटना होने से बच गई। रेल लाइन पर देहरादून से दिल्ली जाने वाली जन शताब्दी ट्रेन रुड़की रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म तीन पर पहुंचने वाली थी कि इस दौरान रेलवे स्टेशन पर गश्त कर रही आरपीएफ की टीम ने रेलवे लाइन में आई एक इंच से अधिक दरार को देख लिया। दरार देखते ही सामने से आ रही जन शताब्दी ट्रेन को रुकवाने के लिए तेजी से इंजन की ओर दौड़ पड़े। आरपीएफ के शोर मचाने के बाद ड्राइवर ने लाइन में आई दरार से कुछ दूरी पहले ही ट्रेन को रोक दिया। आनन-फानन रेलवे के अधिकारियों को मामले से अवगत कराया गया। करीब एक घंटे बाद जन शताब्दी को रवाना किया गया। इसके बाद करीब सात घंटे की कड़ी मशक्कत के बाद रेलवे लाइन पर अन्य ट्रेनों का आवागमन बहाल हो सका। इस दौरान इस प्लेटफार्म पर आने वाली ट्रेनों को मेन लाइन से निकाला गया।

ड्राइवर को अनहोनी का अंदेशा हुआ

बुधवार सुबह सात बजे करीब आरपीएफ के जवान एसआई जगत सिंह चौहान, कांस्टेबल दिगम्बर सिंह, रविंद्र नेगी रेलवे प्लेटफार्म पर गश्त कर रहे थे। इस दौरान आरपीएफ के जवानों को प्लेट फार्म नंबर तीन पर स्टार्टर के पास रेल लाइन में करीब एक इंच चौड़ी दरार दिखाई दी। उन्होंने इसकी जानकारी तुरंत रेलवे कंट्रोल को दी। इसी बीच देहरादून से दिल्ली जाने वाली जन शताब्दी ट्रेन सामने से आती हुई दिखाई दी। बड़े हादसे की आशंका को देखते हुए आरपीएफ के जवान ट्रेन को रुकवाने के लिए इंजन की तरफ दौड़ पड़े। आरपीएफ के जवानों को अपनी और दौड़ते हुए देखकर और उनके संकेतों को समझते हुए ड्राइवर को खतरे का अंदेशा हुआ। उसने तभी इंजन की रफ्तार धीमी करनी शुरू कर दी।

 

हालांकि जब तक ट्रेन दरार वाली जगह तक पहुंच चुकी थी। इस दौरान ट्रेन की रफ्तार काफी धीमी हो गई थी, इसलिए कोई हादसा नहीं हुआ। विभागीय अधिकारियों की मानें तो यदि गाड़ी अपनी पूरी रफ्तार पर होती तो दरार पड़ी पटरी से गुजरना जोखिम भरा था।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement