Actor Arshad Warsi on Total Dhamaal

दि राइजिंग न्यूज़

रुड़की।

पार्सल यान में क्षमता से अधिक माल लोड होने के कारण गंगा सतलुज एक्सप्रेस मंगलवार सुबह रुड़की रेलवे स्टेशन से चलने के बाद दो हिस्सों में बंट गई। ट्रेन के 21 कोच पीछे रह गए और इंजन आगे निकल गया। यह देख यात्री सहम उठे। किसी तरह से ट्रेन को लक्सर स्टेशन ले जाया गया। इसके बाद दूसरी ट्रेन के इंजन में लगी कपलिंग लगाकर ट्रेन रवाना की गई। इस दौरान ट्रेन दो घंटे से अधिक लेट होने से यात्रियों को परेशानी का सामना करना पड़ा। आशंका जताई जा रही है कि कोच में लगी कपलिंग पुरानी थी।

मंगलवार सुबह 4.12 बजे प्लेटफार्म नंबर एक पर फिरोपुर से धनबाद जाने वाली गंगा सतलुज एक्सप्रेस पहुंची। दो मिनट बाद ट्रेन रवाना होते ही कपलिंग टूटने से दो हिस्सों में बंट गई। इंजन से लगे 21 कोच अलग हो गए। चालक तेजपाल ने सूझबूझ का परिचय देते हुए इंजन का ब्रेक लगाया और सूचना स्टेशन अधीक्षक एसके वर्मा व लोको निरीक्षक बृजपाल सिंह को दी। दोनों तत्काल घटनास्थल पहुंचे। उन्होंने देखा कि इंजन के पीछे पार्सल यान कोच लगा था। इंजन और पार्सल यान कोच के बीच की कपलिंग टूटी मिली। असेंबली पूरी तरह निकल गई थी। 21 डिब्बे भी थोड़ी दूर जाकर रुक गए थे। वहीं, ट्रेन को दो हिस्सों में बंटा देख यात्री भी सहम उठे। बताया जा रहा है कि चालक ने सूझबूझ का परिचय देकर बड़ा हादसा बचा लिया।

 

भूकंप आ गया...

अगर चालक फौरन इंजन का ब्रेक लगाता तो इंजन और डब्बे आपस में टकरा सकते थे। घटना के बाद ट्रेन को किसी तरह से लक्सर ले जाया गया। यहां प्लेटफार्म नंबर दो पर ट्रेन रोकी गई और श्रीमाता वैष्णो देवी एक्सप्रेस के इंजन की सेफ्टी पिन लगाकर ट्रेन को धनबाद के लिए रवाना किया गया। ट्रेन में यात्रा करने वालों ने बताया कि कपलिंग टूटने के बाद उन्हें तेज झटका महसूस हुआ। एक बार तो लगा जैसे भूकंप आया हो। कई लोग सीटों से नीचे गिर गए। घटना के बाद लगभग एक घंटे तक रुड़की में ट्रेन खड़ी रही। इसके बाद लक्सर रेलवे स्टेशन पर ट्रेन को करीब एक घंटे रोका गया।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement