Baaghi 2 Assistant Director Name Came in Physical Assault

दि राइजिंग न्यूज़

इंटरनेशनल डेस्क।

 

पूर्व पाकिस्तानी राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ आतंक की हिमायत तो पहली ही खुलकर कर चुके हैं और अब वो उसके आकाओं से हाथ मिलाने की तैयारी भी कर चुके हैं।  दरअसल, परवेज मुशर्रफ आतंकी आका हाफिज सईद के साथ हाथ मिलाकर चुनाव लड़ना चाहते हैं। तो क्‍या इसे ये समझा जाए कि मुशर्रफ भी आतंकी गुट में शामिल हो रहे हैं।

 

पहले मुंबई हमले के मास्टरमाइंड और लश्कर सरगना हाफिज सईद ने चुनाव लड़कर पाकिस्तानी संसद पहुंचने का ऐलान किया। इसके बाद जब हाफिज सईद को नजरबंदी से राहत मिली तो परवेज मुशर्रफ ने इस पर खुशी जाहिर की और खुद को लश्कर-ए तैयबा का सबसे बड़ा समर्थक बता डाला।

मुशर्रफ ने एक पाकिस्तानी न्यूज चैनल से बातचीत के दौरान हाफिज सईद के साथ मिलकर चुनाव लड़ने की इच्छा जाहिर की है। दरअसल, मासूमों पर बम-बदूंक चलवाने वाला हाफिज सईद अब पाकिस्तानी संसद को अपना हेड क्वार्टर बनाना चाहता है। उसने चोरी-छिपे ये इरादा ज़ाहिर नहीं किया है, बल्कि पाकिस्तानी सरकार, पाकिस्तानी सेना और पाकिस्तानी खुफिया एजेंसी ISI की नाक के नीचे डंके की चोट पर अपने ये मंसूबा लोगों को बताया है।

 

हाफिज सईद ने पाक नेशनल एसेंबली का चुनाव लड़ने का ऐलान किया है। पाकिस्तान में 2018 में आम चुनाव होने हैं। जिसमें हाफिज सईद अपने राजनीतिक दल मिल्ली मुस्लिम लीग के टिकट पर चुनाव लड़ेगा।

बता दें कि पाकिस्तान का चुनाव आयोग हाफिज की पार्टी को मान्यता देने से इनकार कर चुका है। बावजूद इसके हाफिज़ चुनाव लड़ने के दावे कर रहा है और अब पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ भी उनका साथ देने के लिए तैयार खड़े हैं।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement