Actress Natasha Suri to Make Her Bollywood Debut

दि राइजिंग न्यूज़

इंटरनेशनल डेस्क।

 

चीन इस बार अपने रक्षा बजट में 8.1 फीसदी की बढ़ोत्तरी करने जा रहा है। इसके साथ ही यह 175 अरब डॉलर (11 लाख 38 हजार 637 करोड़) हो जाएगा। पिछले साल के मुकाबले यह सात फीसदी ज्यादा है। भारत का हालिया रक्षा बजट 52.5 अरब डॉलर (3 लाख 41 हजार 538 करोड़ रुपए) है। चीन अभी रक्षा बजट के मामले में अमेरिका के बाद दुनिया में दूसरे नंबर पर है।

 

संसद से पहले मीडिया को मुहैया कराई रिपोर्ट

चीन की सरकारी न्यूज एजेंसी शिन्हुआ के मुताबिक, सोमवार से शुरू हो रहे 13वीं नेशनल पीपुल्स कांग्रेस के पहले सेशरन के सामने पेश होने से पहले यह रिपोर्ट मीडिया में उपलब्ध कराई गई है। इसमें रक्षा बजट में 8.1 फीसदी के इजाफे का प्रस्ताव है।

चीन ने पिछले साल अपना बजट बढ़ाकर 150.5 अरब डॉलर (9 लाख 79 हजार करोड़ रुपए) किया था। 2013 के बाद यह तीसरी बार है जब चीन ने अपने रक्षा बजट के परसेंट में सिंगल डिजिट की बढ़ोत्तरी की है। 2016 में उसने इसमें 7.6% और 2017 में 7% की बढ़ोत्तरी की थी।

 

यह जीडीपी का छोटा सा हिस्सा है

13वीं एनपीसी की पहली सालाना बैठक के प्रवक्ता झांग येसुई ने रविवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि कई प्रमुख देशों की तुलना में चीन के रक्षा बजट में जीडीपी और नेशनल फिस्कल एक्सपेंडिचर से छोटा सा हिस्सा लिया गया है। झांग ने कहा कि देश का प्रति व्यक्ति सैन्य खर्च दूसरे प्रमुख देशों से कम है।

अमेरिका अभी भी टॉप पर

रक्षा बजट के मामले में अमेरिका अभी भी दुनिया में टॉप पर है। उसका हालिया रक्षा बजट 602.8 अरब डॉलर (39 लाख 21 हजार 515 करोड़ रुपए) है।

 

कई देशों से टकराव

भारत और चीन के बीच चार हजार किलोमीटर से ज्यादा लंबी बॉर्डर है। इसमें कई जगहों पर विवाद है। पिछले साल हुआ डोकलाम विवाद भी इसी तरह का था। शेनकाकू आईलैंड्स को लेकर उसका जापान से पुराना टकराव है। दोनों देश इस आईलैंड्स पर अपना-अपना हक जताते रहे हैं। साउथ चाइना सी (दक्षिण चीन सागर) में जापान के अलावा, वियतनाम, फिलिपींस और मलेशिया से उसका टकराव सबके सामने है।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

The Rising News

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll