Sanjay Dutt invited Ranbir and Alia For Dinner

दि राइजिंग न्यूज़

इंटरनेशनल डेस्क।

 

अमेरिका के कैलिफोर्निया में एकबार फिर बंदूकधारी ने हमला कर दिया है। इसबार उस सिरफिरे ने बुजुर्गों और वृद्धों को अपना निशाना बनाया है। बंदूकधारी शुक्रवार को कैलिफोर्निया के एक वृद्धा आश्रम में घुस गया और उसने तीन बुजुर्गों को बंधक भी बना लिया है।

 

घंटो मशक्कत के बाद भी पुलिस को बंधकों की स्थिति का पता नहीं चल सका है। पुलिस बंदूकधारी से बात करने में अभी तक असफल रही है। अधिकारियों का कहना है कि उन्हें बंदूकधारी के बारे में पता है लेकिन वह उसकी पहचान को उजागर नहीं करना चाहते हैं।

सरकार द्वारा संचालित किए जा रहे वृद्धा आश्रम में बंदूकधारी द्वारा ली गई शरण का लक्ष्य पता है। शेरिफ (सरकारी अधिकारी) के डिप्टी सुबह 10 बजे के बाद एक आपातकालीन कॉल का जवाब दे रहे थे उन्हें बंदूकधारी ने गोली मारी लेकिन उन्हें कोई नुकसान नहीं हुआ।

 

कैलिफोर्निया के शहर नापा के कंट्री शेरिफ जॉन रॉबर्टसन ने पत्रकारों को बताया कि हम इस परिस्थिति को सक्रिय शूटर स्थिति के तौर पर ले रहे हैं। हमारे डिप्टी शेरिफ और बंदूकधारी ने आपस में गोलियां चलाईं। बहुत सारी गोलियां चलाई गई हैं। लैरी कामेर ने बताया कि उनकी पत्नी डेवेरीयॉक्स स्मिथ मॉर्निंग स्टाफ के साथ पार्टी कर रही थी जब बंदूकधारी ने आश्रम में एंट्री की और कुछ लोगों को छोड़ते हुए तीन लोगों को बंधक बना लिया।

स्मिथ आश्रम के लिए फंडरेज करने का काम करती हैं। इस आश्रम में युद्ध की वजह से तनाव का शिकार हुए ईरान और अफगानिस्तान के वृद्ध रहते हैं। जिन तीन लोगों को बंदूकधारी ने बंधक बनाया है उनमें आश्रम के कर्मचारी शामिल हैं।

 

कैलिफोर्निया हाईवे पेट्रोल के सहायक चीफ क्रिस चिल्ड्स ने कहा- बंदूकधारी के पास राइफल है और वह एक कमरे में छुपा हुआ है। अधिकारी उसके फोन और आश्रम की फैसिलिटी के लैंडलाइन फोन के जरिए उसके पास पहुंचने की कोशिश कर रहे हैं।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll