• Cbseresults.nic.in और Cbse.nic.in पर नतीजे घोषित
  • वैष्णो देवी के रास्ते पर लगी भीषण आग, बंद किया गया नया मार्ग
  • राहुल गाँधी ने सहारनपुर पहुँचकर पीड़ितों से मुलाकात की
  • कपिल का केजरीवाल पर आरोप- स्‍वास्‍थ्‍य विभाग और एंबुलेंस खरीद में किया घोटाला
  • 30 मई को देशभर में बंद रहेंगी दवा दुकानें
  • श्रीलंका में आए भीषण बाढ़ और भूस्‍खलन में करीब 100 लोगों की मौत
  • पंजाब के पूर्व डीजीपी केपीएस गिल का दिल्‍ली के अस्‍पताल में निधन
  • उरी में भारतीय सेना पर हमले की कोशिश नाकाम, मारे गए पाक की BAT के दौ सैनिक
  • झारखंड के डुमरी बिहार स्‍टेशन पर नक्‍सलियों का हमला, मालगाड़ी के इंजन में लगाई आग
  • "नो एंट्री" के बावजूद राहुल गांधी यूपी-हरियाणा बॉर्डर से पैदल जा रहे हैं सहारनपुर
  • कल घोषित होगें सीबीएसई और परसों आईसीएसई के 12वीं के नतीजे
  • सहारनपुर हिंसा: गृह सचिव ने लोगों के घर-घर जाकर माफी मांगी
  • पीएम मोदी ने आज देश के सबसे लंबे पुल का उद्घाटन किया

Share On

Ladies Special | 29-Jul-2016 01:03:36 PM
क्‍योंकि... सोच बदल रही है

  • काठमांडू में माहवारी में महिलाओं को ऑफिस से छुट्टी



 

दि राइजिंग न्‍यूज

आउटपुट डेस्‍क।

पीरियड्स को भारत में हमेशा से एक टैबू समझा जाता रहा है, लेकिन अब लग रहा है कि लोगों की सोच बदल रही है। काठमांडू की एक ऑनलाइन शॉपिंग कंपनी सस्‍तो डील ने अपनी महिलाकर्मियों को माहवारी के दिनों में छुट्टी देने का निर्णय लिया है।


वैसे आपको बताते चलें कि पीरियड्स में छुट्टी देने का चलन विदेश में काफी कॉमन है। यूके की एक कंपनी कोएग्जिट ने अपनी महिलाकर्मियों को ये सौगात पिछले साल मार्च में दी। इसी की देखा-देखी नेपाल ने भी इस चलन को अपने देश में अपनाया। सस्‍तो डीन नामक कंपनी ने यह व्‍यवस्‍था जून से शुरू कर दी। जानकारों की मानें तो कंपनी के शीर्षाधिकारियों ने उन दिनों होने वाले महिलाओं को होने वाली बेहिसाब पीड़ा व कई असुविधाओं के चलते यह फैसला लिया है।

 

सभी महिला कर्मचारियों को महीने के उस समय के दौरान कार्यस्थल पर असहज महसूस होता है। ऐसा इस लिए क्‍योंकि उन दिनों में महीला के शरीर में काफी बदलाव और दर्द होता है जो वे न तो किसी को बता सकती हैं और न जाहिर कर सकती हैं। इतना ही नहीं, पीरियड्स के दिनों में ऑफिस के बजाय घर से काम करना सही लगता है। निजी तौर पर जब मैं अच्छा महसूस नहीं करती हुं तो मैं एक छुट्टी ले लेती हूं और घर से काम करने का फैसला करती हूं। मुझे एहसास होता है कि मैं घर पर अधिक और अच्‍छा काम करती हूं।

(ऋचा राजभंडारी, एसडी व्यवसाय विकास प्रबंधक)

 

छुट्टी के दिन की सैलरी नहीं काटी जाएगी। हालांकि अभी यह स्‍पष्‍ट नहीं है कि लीव एक दिन के लिए है या चार दिनों के लिए।


जापान में सन् 1947 से ये चलन काफी लोकप्रीय रहा है। ताइवान, साउथ कोरिया, इंडोनेशिया आदि जगह पर सफल रहा है। अब इस चलन को नेपाल की एसडी ने भी अपना लिया है पर देखना यह है कि भारत इसे अपनाने में कितना समय लेता है। 

 

Share On

अन्य खबरें भी पढ़ें

Comment Form is loading comments...

खबरें आपके काम की

 


 



   Photo Gallery   (Show All)
जब सांझ ढले तब दिन ढल जाये। फोटो - कुलदीप सिंह
जब सांझ ढले तब दिन ढल जाये। फोटो - कुलदीप सिंह

शहर के कार्यक्रम एवं शिक्षा से जुड़ीं ख़बरें