• राहुल गांधी कल जाएंगे सहारनपुर पीडि़तों से मिलने
  • कल घोषित हो सकते हें सीबीएसई के 12वीं के नतीजे
  • सहारनपुर हिंसा: गृह सचिव ने लोगों के घर-घर जाकर माफी मांगी
  • पीएम मोदी ने आज देश के सबसे लंबे पुल का उद्घाटन किया
  • बाबरी मस्जिद विध्वंस केस: आज आरोप तय करेगी CBI की स्पेशल कोर्ट
  • सहारनपुर में हिंसा के बाद धारा 144 लागू, इंटरनेट सेवा पर भी बैन
  • मोदी सरकार के 3 साल के जश्न में सहयोगी मुख्यमंत्रियों को न्योता नहीं- सूत्र
  • मैसूर ब्लास्ट केस में NIA ने फाइल की चार्जशीट

Share On

Kanpur | 12-Jan-2017 01:51:24 PM
स्‍वामी विवेका नंद की 155वीं जयंती पर लगी प्रदर्शनी



 

दि राइजिंग न्‍यूज

12 जनवरी, कानपुर।

सेवा संस्‍थान कि तरफ से स्‍वामी विवेकानंद की 155वीं जयंती पर सिलाई और साक्षरता केंद्र में सिलाईमेंहदीब्‍यूटी कल्‍चरफोम बैग और कृत्रिम आभूषण की प्रदर्शनी लगाई गई। इस अवसर पर 92 छात्रओं को प्रमिभा सम्‍मान से सम्‍मानित किया गया।

कार्यक्रम का आयेजन पूर्व मुख्‍य आयकर आयुक्‍त केडी गुप्ता की अध्‍यक्षता में हुआ। कार्यक्रम के मुख्‍य अतिथि स्‍वामी सत्‍यमया नंद ने अपने संबोधन में कहा कि शिकागो में आयोजित विश्‍व धर्म महासभा में भारत राष्‍ट्र की पहचान अंर्तराष्‍ट्रीय पटल पर पहुंचाई जिसकी उपस्थित समस्‍त महानुभावों ने दिल से सराहना की।


वहीं सभा अध्‍यक्ष केडी गुप्‍ता ने अपने संबोधन में कहा कि स्‍वामी विवेकानंद भारत वर्ष की आत्‍मा है। वहीं संस्‍थान की अध्‍यक्ष आनंद शकर गुप्‍ता ने कहा कि सेवा संस्‍थान अपने सद्कार्यो के माध्‍यम से अपने सेवा के नाम को साकार कर रहा है। जिसमें सैनिको के सहायतार्थ 51 हजार की राशि जिलाधिकारी के भेंट किया गया और पोस्‍टमार्टम हाऊस में दुखीजनों के बैठने हेतु स्‍थायी प्रतीक्षालय का निर्माणनेत्र रोगियों और निर्बल वर्ग के वृद्धजनों को 320 ऊनी कंबलों का वितरण और 131 नेत्र रोगियों के निशुल्‍क आइओएल आपरेशन आदि सेवाकार्य ही सच्‍ची पहचान है। 


इस अवसर पर प्रमुख रूप से कृष्‍ण कांत अवस्‍थीरंजन सूरीआलोक कृष्‍ण गप्‍तारिषभ वीरानीअतुल रस्‍तोगीदिनेश देव गुप्‍तहेमलता गुप्‍तासुधीर कुमार गुप्‍ताअनिल रस्‍तोगी आदि लोग मौजूद रहे।

 

Share On

अन्य खबरें भी पढ़ें

Comment Form is loading comments...

खबरें आपके काम की

 


 



   Photo Gallery   (Show All)
"जब सांझ ढले तब दिन ढल जाये"  । फोटो - कुलदीप सिंह
"जब सांझ ढले तब दिन ढल जाये" । फोटो - कुलदीप सिंह

शहर के कार्यक्रम एवं शिक्षा से जुड़ीं ख़बरें