• Cbseresults.nic.in और Cbse.nic.in पर नतीजे घोषित
  • वैष्णो देवी के रास्ते पर लगी भीषण आग, बंद किया गया नया मार्ग
  • राहुल गाँधी ने सहारनपुर पहुँचकर पीड़ितों से मुलाकात की
  • कपिल का केजरीवाल पर आरोप- स्‍वास्‍थ्‍य विभाग और एंबुलेंस खरीद में किया घोटाला
  • 30 मई को देशभर में बंद रहेंगी दवा दुकानें
  • श्रीलंका में आए भीषण बाढ़ और भूस्‍खलन में करीब 100 लोगों की मौत
  • पंजाब के पूर्व डीजीपी केपीएस गिल का दिल्‍ली के अस्‍पताल में निधन
  • उरी में भारतीय सेना पर हमले की कोशिश नाकाम, मारे गए पाक की BAT के दौ सैनिक
  • झारखंड के डुमरी बिहार स्‍टेशन पर नक्‍सलियों का हमला, मालगाड़ी के इंजन में लगाई आग
  • "नो एंट्री" के बावजूद राहुल गांधी यूपी-हरियाणा बॉर्डर से पैदल जा रहे हैं सहारनपुर
  • कल घोषित होगें सीबीएसई और परसों आईसीएसई के 12वीं के नतीजे
  • सहारनपुर हिंसा: गृह सचिव ने लोगों के घर-घर जाकर माफी मांगी
  • पीएम मोदी ने आज देश के सबसे लंबे पुल का उद्घाटन किया

Share On

Kanpur | 11-Jan-2017 06:04:41 PM
नोटबंदी के बाद धनवान नहीं ज्ञानियों को मिल रहा सम्मान

  • प्रबुद्ध सम्मेलन में चुनाव के दबाव में दिखे रेल मंत्री सुरेश प्रभु
  • कहा, चुनाव के कारण ज्यादा बोल नहीं सकता




 

 

दि राइजिंग न्‍यूज ब्‍यूरो

11 जनवरीकानपुर।

केन्द्रीय रेल मंत्री सुरेश प्रभु का कहना है कि नोटबंदी के बाद ज्ञानी को सम्मान और काले धनवान को नकारात्मक दृष्टि से देखा जा रहा है। देश में दशकों बाद ऐसा हो रहा है कि ज्ञान का सम्मान हो रहा हो। रेल मंत्री स्थानीय बीएनडी कॉलेज में एक प्रबुद्ध सम्मेलन में शिरकत करने आए थे।

दोपहर बाद कार्यक्रम में पहुंचे रेल मंत्री बेहद जल्दी में थे। करीब एक घंटे देर से पहुंचे रेल मंत्री ने आते ही अपना भाषण दिया और चले गए। उन पर चुनाव आयोग का दबाव साफ दिखाई दे रहा था।

 

-अपने भाषण में उन्होंने करीब आधा दर्जन बार कहा कि चुनाव के काऱण वे ज्यादा कुछ बोल नहीं सकते पर अपने पुराने काम तो बता ही सकते हैं।

-मंत्री सुरेश प्रभु ने कहा कि नोटबंदी प्रधानमंत्री के द्वारा शुरू की गई एक नई तरह की लड़ई की शुरुआत है जिसका फायदा आने वाले समय में सभी को मिलेगा।

-अब गुरु को सम्मान मिलने लगा है नहीं तो पहले तो उसी को सम्मान मिलता था जिसके जेब में काला धन होता था। पर अब सब बदल रहा है।

-उन्‍होंने कहा कि चुनाव के कारण वे ज्यादा कुछ बोल नही सकते हैं पर इतना जरूर कह सकते हैं कि आम आदमी को ज्यादा सहूलियत देने वाली महामना और हमसफर ट्रेनें उन्होंने उत्तर प्रदेश से ही शुरू की।

-केन्द्र में सरकार भी इसी कारण बनी क्योंकि यूपी से सबसे ज्यादा सीटें भारतीय जनता पार्टी को मिलीं। देश का प्रधानमंत्री भी वाराणसी शहर से सांसद है।

-यूपी ने हमेशा देश को दिशा दी है पर बीते कुछ सालों से इस प्रदेश का क्षमतानुसार विकास नहीं हो सका। प्रदेश को बुनियादी तौर पर विकास की दिशा देने की जरूरत है।

-यहां कभी जरूरत के हिसाब से निवेश नहीं मिला। अब निवेश किया जा रहा है लेकिन वे उसका बोझ आम लोगों पर नहीं डाल रहे हैं। महिलाओं के बाबत सुरेश प्रभु ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जो भी परियोजना बनाते हैं महिलाओं को ध्यान में रख कर बनाते हैं। जल्दी ही बैंक एकाउन्ट में महिलाओं की भागीदारी सुनिश्चित की जाएगी।

-कार्यक्रम में उनसे आइएमए अध्यक्ष डा प्रवीन कटियारशिक्षाविद अलका द्विवेदीअधिवक्ता कैलाश शुक्ल और व्यापारी नेता विजय पाण्डेय ने अपने सवाल पूछे। विधायक सलिल विश्नोईअरुण पाठकरघुनंदन भदौरियाउत्तर जिला अध्यक्ष सुरेन्द्र मैथानीदक्षिण जिला अध्यक्ष अनीता गुप्ताप्रदेश उपाध्यक्ष प्रकाश शर्मा और प्रदेश मंत्री सुरेश अवस्थी मौजूद थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता मेयर जगतवीर सिंह द्रोण ने की।

 

 

Share On

अन्य खबरें भी पढ़ें

Comment Form is loading comments...

खबरें आपके काम की

 


 



   Photo Gallery   (Show All)
जब सांझ ढले तब दिन ढल जाये। फोटो - कुलदीप सिंह
जब सांझ ढले तब दिन ढल जाये। फोटो - कुलदीप सिंह

शहर के कार्यक्रम एवं शिक्षा से जुड़ीं ख़बरें