• Cbseresults.nic.in और Cbse.nic.in पर नतीजे घोषित
  • वैष्णो देवी के रास्ते पर लगी भीषण आग, बंद किया गया नया मार्ग
  • राहुल गाँधी ने सहारनपुर पहुँचकर पीड़ितों से मुलाकात की
  • कपिल का केजरीवाल पर आरोप- स्‍वास्‍थ्‍य विभाग और एंबुलेंस खरीद में किया घोटाला
  • 30 मई को देशभर में बंद रहेंगी दवा दुकानें
  • श्रीलंका में आए भीषण बाढ़ और भूस्‍खलन में करीब 100 लोगों की मौत
  • पंजाब के पूर्व डीजीपी केपीएस गिल का दिल्‍ली के अस्‍पताल में निधन
  • उरी में भारतीय सेना पर हमले की कोशिश नाकाम, मारे गए पाक की BAT के दौ सैनिक
  • झारखंड के डुमरी बिहार स्‍टेशन पर नक्‍सलियों का हमला, मालगाड़ी के इंजन में लगाई आग
  • "नो एंट्री" के बावजूद राहुल गांधी यूपी-हरियाणा बॉर्डर से पैदल जा रहे हैं सहारनपुर
  • कल घोषित होगें सीबीएसई और परसों आईसीएसई के 12वीं के नतीजे
  • सहारनपुर हिंसा: गृह सचिव ने लोगों के घर-घर जाकर माफी मांगी
  • पीएम मोदी ने आज देश के सबसे लंबे पुल का उद्घाटन किया

Share On

Kanpur | 11-Jan-2017 04:25:43 PM
चुनाव में पुलिस कसेगी असमाजिक तत्‍वों पर शिकंजा

  • ग्रामीण क्षेत्रों में पुलिस प्रधान और बिडीसी सदस्‍यों से लेगी मदद
  • सभी थाना क्षेत्रों से दस-दस लोगों को किया जाएगा चिंहत



 

दि राइजिंग न्‍यूज

11 जनवरी, कानपुर।

अपराध नियंत्रण के साथ ही विधानसभा चुनाव की तैयारियों में जुटी पुलिस गांव मुहल्ले के असमाजिक तत्वों पर शिकंजा कस रही है। इसके लिए पुलिस गांवों के प्रधानों से लेकर सम्‍मानित व्यक्तियों की भी मदद लेगी और उनकी निगाहों से ही इन पर नजर भी रखेगी।

वहीं शहर में भी पुलिस समाज सेवियों से भी निष्‍पक्ष चुनाव कराने के लिए मदद लेगी। कानपुर आइजी जोन के निर्देश पर हर थाना क्षेत्र में पुलिस के मददगारों की सूची बनाई जा रही है। पुलिस हर थाना क्षेत्र में दस-दस लोगों को चिंहत कर उनसे मदद लेगी। हांलाकी पुलिस यह सभी नाम गोपनीय रखेगी।

अपराधियों पर कार्रवाई के लिए पुलिस हमेशा से ही समाज के लोगों की मदद लेती चली आई है। अब विधानसभा चुनाव को देखते हुए पुलिस ने इसके लिए अभियान शुरू किया है। पुलिस महानिरीक्षक ने जोन के सभी जिलों के हर थाने से गांव के प्रधान व संभ्रांत लोगों के साथ ही शहरी मुहल्लों के कुछ चिन्हत लोगों की मदद लेने का आदेश दिया है।

आइजी ने कहा कि हर थाने से 10-10 लोगों की सूची तैयार की जाए, थाना प्रभारी उनके नाम पता ही नहीं उनके मोबाइल नंबर आदि विवरण जुटाकर अपने पास रखें साथ ही उच्चाधिकारियों को भी दें। समय-समय पर अधिकारी गांवों की शांति व्यवस्था के बारे में इन लोगों से जानकारी तो लें ही व साथ ही असामाजिक तत्वों पर नजर भी रखें और किसी भी तरह की जानकारी मिलने पर पुलिस को सूचना देने की बात कहें। आईजी ने साफ कहा कि ऐसे लोगों की पुलिस पूरी मदद करे अगर कोई किसी असामाजिक व्यक्ति पर कार्रवाई करवाता है तो उसे पूरी तरह से गोपनीय रखा जाए।

 

 

 

Share On

अन्य खबरें भी पढ़ें

Comment Form is loading comments...

खबरें आपके काम की

 


 



   Photo Gallery   (Show All)
जब सांझ ढले तब दिन ढल जाये। फोटो - कुलदीप सिंह
जब सांझ ढले तब दिन ढल जाये। फोटो - कुलदीप सिंह

शहर के कार्यक्रम एवं शिक्षा से जुड़ीं ख़बरें