• राहुल गांधी कल जाएंगे सहारनपुर पीडि़तों से मिलने
  • कल घोषित हो सकते हें सीबीएसई के 12वीं के नतीजे
  • सहारनपुर हिंसा: गृह सचिव ने लोगों के घर-घर जाकर माफी मांगी
  • पीएम मोदी ने आज देश के सबसे लंबे पुल का उद्घाटन किया
  • बाबरी मस्जिद विध्वंस केस: आज आरोप तय करेगी CBI की स्पेशल कोर्ट
  • सहारनपुर में हिंसा के बाद धारा 144 लागू, इंटरनेट सेवा पर भी बैन
  • मोदी सरकार के 3 साल के जश्न में सहयोगी मुख्यमंत्रियों को न्योता नहीं- सूत्र
  • मैसूर ब्लास्ट केस में NIA ने फाइल की चार्जशीट

Share On

Sports | 11-Jan-2017 01:08:49 PM
ओलंपिक गोल्‍ड विनर कैरोलिना ने क्‍यों कहा, “काश मैं इंडियन होती”



 

दि राइजिंग न्‍यूज

11 जनवरी, खेल डेस्‍क।

स्‍पेन की कैरोलिना मारिन अब भारतीयों के लिए जाना-पहचाना चेहरा हैं। उन्‍होंने रियो ओलंपिक 2016 के वुमेन बैडमिंटन के फाइनल में भारत की पीवी सिंधु को हरा कर गोल्‍ड जीता था। इन दिनों कैरोलिना भारत में हैं, वह प्रो-बैडमिंटन लीग खेलने के लिए यहां आई हुईं हैं। यहां आकर ऐसा क्‍या हुआ कि ओलंपिक गोल्‍ड विनर कैरोलिना ने यह कह दिया कि काश मैं इंडियन होती।

मारिन ने खुलासा करते हुए बताया है कि रियो में गोल्ड मेडल जीतने के बाद ही उन्हें ज्यादा कुछ नहीं मिला। जबकि उनसे हारने वाली सिंधु को भारत में खूब इनाम मिले। सिंधु को नकद इनाम के अलावा, लग्जरी कार, जमीन और कई एंडोर्समेंट ऑफर मिले। 23 वर्षीय मारिन को गोल्ड जीतने के बाद केवल 94000 यूरो (करीब 68 लाख रुपये) ही मिले।

ये भी पढ़ें

जब डिबेट में एक लड़का लड़की से हारा तो लड़की का किया ये हाल देखें वीडियो

रिजर्व बैंक ने नोटबंदी पर किया ये बड़ा खुलासा  

कैरोलिना को सिंधु का करीब 10 प्रतिशत ही इनाम मिला। जबकि उन्होंने गोल्ड मेडल जीता था। सिंधु के मेडल जीतने के बाद उनके कोच पी. गोपीचंद को भी बहुत कुछ इनाम में मिला था। वहीं जब इस बारे में मारिन के कोच रिवाज से पूछा गया तो उन्होंने बताया कि उन्हें कोई इनाम नहीं मिला।


मारिन बोलीं काश मैं इंडियन होती

मारिन का कहना है कि, स्पेन में चीजें बिल्कुल अलग हैं, गोल्ड जीतने के बाद मुझे कोई कार, मकान और जमीन नहीं मिली, मुझे केवल सरकार से इनाम मिला। लेकिन फिर भी जो मिला मैं उससे संतुष्ट हूं।


लोग अटेंशन दे रहे हैं

मारिन इस बात को मानती हैं कि उन्हें अपने देश से ज्यादा अटेंशन भारत में मिल रहा है। उनके मुताबिक यहां आकर मुझे ढेर सारे फैन्स मिले। लोग मुझे जानने लगे हैं, वे एयरपोर्ट और होटल पर मेरा इंतजार करते हैं और मुझसे सेल्फी और ऑटोग्राफ मांगते हैं। मारिन का कहना है कि स्पेन में ऐसी चीजें बिल्कुल नहीं हो सकतीं, वहां यहां से सबकुछ अलग है। मैंने गोल्ड मेडल जीता और सिंधु ने सिल्वर, लेकिन मुझे ये बात जानकर हैरानी हुई कि उन्हें इनाम में इतना सबकुछ मिला। इसके बाद मारिन मुस्कुराते हुए कहती हैं कि कभी-कभी मुझे लगता है कि मुझे भी इंडियन होना चाहिए था।

 

 

Share On

अन्य खबरें भी पढ़ें

Comment Form is loading comments...

खबरें आपके काम की

 


 



   Photo Gallery   (Show All)
"जब सांझ ढले तब दिन ढल जाये"  । फोटो - कुलदीप सिंह
"जब सांझ ढले तब दिन ढल जाये" । फोटो - कुलदीप सिंह

शहर के कार्यक्रम एवं शिक्षा से जुड़ीं ख़बरें