• पंजाब के पूर्व डीजीपी केपीएस गिल का दिल्‍ली के अस्‍पताल में निधन
  • उरी में भारतीय सेना पर हमले की कोशिश नाकाम, मारे गए पाक की BAT के दौ सैनिक
  • ईवीएम चुनौती के लिए आवेदन का आज आखिरी दिन
  • झारखंड के डुमरी बिहार स्‍टेशन पर नक्‍सलियों का हमला, मालगाड़ी के इंजन में लगाई आग
  • शेयर बाजार की नई ऊंचाई, सेंसेक्‍स पहली बार पहुंचा 31,000 के पार
  • चीन सीमा के पास मिला तीन दिन से लापता सुखोई-30 का मल‍बा, पायलेट का पता नहीं
  • जेवर हाइवे गैंगरेप: पीडि़ता ने बदला अपना बयान
  • राहुल गांधी कल जाएंगे सहारनपुर पीडि़तों से मिलने
  • कल घोषित हो सकते हैं सीबीएसई के 12वीं के नतीजे
  • सहारनपुर हिंसा: गृह सचिव ने लोगों के घर-घर जाकर माफी मांगी
  • पीएम मोदी ने आज देश के सबसे लंबे पुल का उद्घाटन किया
  • बाबरी मस्जिद विध्वंस केस: आडवाणी समेत 6 नेताओं को CBI कोर्ट ने किया तलब

Share On

National | 11-Jan-2017 12:27:07 PM
"आप" का पंजाब में दांव



 

दि राइजिंग न्‍यूज

11 जनवरी, नई दिल्ली।

पंजाब में आगामी विधानसभा चुनाव को लेकर आम आदमी पार्टी ने अपना सबसे बड़ा दांव खेल दिया है। मनीष सिसोदिया ने मोहाली की एक रैली के दौरान कहा कि आप ये मान कर चलें कि पंजाब के मुख्यमंत्री तो अरविंद केजरीवाल ही बनने वाले हैं। सिसोदिया के इस दावे को पंजाब में सीएम के चेहरे के तौर पर केजरीवाल को आगे करने के रूप में भी समझा जा रहा है।

सिसोदिया के बयान के तुरंत बाद कैप्टन अमरिंदर और सुखबीर सिंह बादल ने केजरीवाल पर तीखा हमला बोलते हुए पंजाब के हितों के खिलाफ बताया। खास बात यह है कि पंजाब में आप के प्रमुख चेहरे को तौर पर पिछले कई महीनों से काम कर रहे भगवंत मान भी कई रैलियों में खुद को सीएम उम्मीदवार के तौर पर पेश करते रहे हैं।

 

सुखबीर सिंह बादल ने कहा कि ये पंजाब के हितों से सौदा होगा

शिरोमणि अकाली दल ने आरोप लगाया कि आम आदमी पार्टी राज्य के अपने नेताओं के अवसरों को खत्म करने के बाद ‘‘बाहरी’’ अरविंद केजरीवाल को पंजाब में थोपने की कोशिश कर रही है। शिअद अध्यक्ष और पंजाब के उपमुख्यमंत्री सुखबीर सिंह बादल ने आरोप लगाया कि अगर राज्य में हरियाणवीसत्ता में आता है तो पंजाब के हितों का सौदा होगा और जोर दिया कि वोटर आप के हाथों बेवकूफ नहीं बनेंगे।

उन्होंने यह भी चेताया कि केजरीवाल के केंद्र विरोधीरुख से राज्य का केंद्र सरकार के साथ टकराव होगा और इससे उसकी प्रगति बाधित होगी। बादल ने एक बयान में कहा, पर्दाफाश हो चुका है। केजरीवाल दो साल से पंजाब का मुख्यमंत्री बनने के लिए टकटकी लगाए हुए हैं और अब आखिरकार पार्टी ने उनके रास्ते के सारे अवरोधों को खत्म करते हुए घोषणा कर ही दी है।

पंजाब के लोगों से उनपर किसी बाहरी को थोपने का विरोध करने के लिए कहते हुए उपमुख्यमंत्री ने कहा, हम लोग सबसे पहले पंजाबी हैं और अकाली, कांग्रेस और भाजपा समर्थक बाद में। अगर एक बाहरी हमारे राज्य का मुख्यमंत्री बन गया तो हमारा अस्तित्व दांव पर लग जाएगा।

 

भाजपा ने लगाया भागने का आरोप

वहीं भाजपा ने उन पर शहर से भागने की तैयारी करनेके लिए निशाना साधा और उनसे चुनावी राज्य में मुख्यमंत्री के चेहरे की घोषणा करने या दिल्ली में पद से इस्तीफा देने के लिए कहा। अरविंद केजरीवाल को वस्तुत: उनकी पार्टी ने पंजाब के लिए मुख्यमंत्री पद का उम्मीदवार घोषित कर विधानसभा चुनावों में त्रिकोणीय मुकाबले को नया आयाम दिया।

दिल्ली भाजपा प्रमुख मनोज तिवारी ने कहा कि घटनाक्रम ने केजरीवाल की सत्ता के प्रति लालचको उजागर कर दिया है। तिवारी ने संवाददाता सम्मेलन में कहा, दुर्भाग्य है कि एक आदमी जिसने दिल्ली नहीं छोड़ने का वादा किया था वह अब पंजाब के लोगों को धोखा देने के लिए दो साल में ही दिल्ली की जिम्मेदारी से भाग रहा है।

 

Share On

अन्य खबरें भी पढ़ें

Comment Form is loading comments...

खबरें आपके काम की

 


 



   Photo Gallery   (Show All)

शहर के कार्यक्रम एवं शिक्षा से जुड़ीं ख़बरें