• Cbseresults.nic.in और Cbse.nic.in पर नतीजे घोषित
  • वैष्णो देवी के रास्ते पर लगी भीषण आग, बंद किया गया नया मार्ग
  • राहुल गाँधी ने सहारनपुर पहुँचकर पीड़ितों से मुलाकात की
  • कपिल का केजरीवाल पर आरोप- स्‍वास्‍थ्‍य विभाग और एंबुलेंस खरीद में किया घोटाला
  • 30 मई को देशभर में बंद रहेंगी दवा दुकानें
  • श्रीलंका में आए भीषण बाढ़ और भूस्‍खलन में करीब 100 लोगों की मौत
  • पंजाब के पूर्व डीजीपी केपीएस गिल का दिल्‍ली के अस्‍पताल में निधन
  • उरी में भारतीय सेना पर हमले की कोशिश नाकाम, मारे गए पाक की BAT के दौ सैनिक
  • झारखंड के डुमरी बिहार स्‍टेशन पर नक्‍सलियों का हमला, मालगाड़ी के इंजन में लगाई आग
  • "नो एंट्री" के बावजूद राहुल गांधी यूपी-हरियाणा बॉर्डर से पैदल जा रहे हैं सहारनपुर
  • कल घोषित होगें सीबीएसई और परसों आईसीएसई के 12वीं के नतीजे
  • सहारनपुर हिंसा: गृह सचिव ने लोगों के घर-घर जाकर माफी मांगी
  • पीएम मोदी ने आज देश के सबसे लंबे पुल का उद्घाटन किया

Share On

Home | 10-Jan-2017 04:22:53 PM
हाथ से छूटा चाय का कप तो, तलाक..तलाक..तलाक



 

दि राइजिंग न्‍यूज

10 जनवरी, नई दिल्ली। 

तीन तलाक मुद्दे पर अभी तक छिड़ी बहस से तो कोई अंजान नहीं है। ऐसा ही मामला यूपी के बाराबंकी में सामने आया है। महज हाथ से चाय का प्‍याला छूट जाने से पति ने अपनी को तलाक...तलाक...तलाक कह डाला। रूही चाय लेकर अपने पति के पास जा रही थी कि अचानक हाथ से प्याला छूट गया और उसका बेटा मामूली रूप से झुलस गया।


इतनी सी बात पर रूही के पति मोहम्मद सब्बीर ने उसे तीन बार तलाक कह कर रिश्ता खत्म कर लिया। खबर के मुताबिक शब्बीर ने रूही को बुरी तरह मारा पीटा और घर से निकाल दिया। रूही ने अपने पति शब्बीर पर लगातार मारपीट और जुल्म का भी आरोप लगाया है। रूही ने इंसाफ के लिए सरकार से गुहार लगाई है। दूसरी तरफ पति शब्बीर ने अपनी गलती मानी है। उसका कहना है कि गुस्से में आकर उसने ऐसा किया।


रूही फिलहाल अपने बच्चे के मायके में रह रही है। देश में तीन तलाक पर बड़ी बहस चल रही है। इस बीच तीन बार तलाक भर कह देने से शादी टूटने का सिलसिला बदस्तूर जारी है जहां महिलाएं आज भी इंसाफ के लिए हाथ फैलाए खड़ी हैं।

 

 

Share On

अन्य खबरें भी पढ़ें

Comment Form is loading comments...

खबरें आपके काम की

 


 



   Photo Gallery   (Show All)
जब सांझ ढले तब दिन ढल जाये। फोटो - कुलदीप सिंह
जब सांझ ढले तब दिन ढल जाये। फोटो - कुलदीप सिंह

शहर के कार्यक्रम एवं शिक्षा से जुड़ीं ख़बरें