• दिल्ली कांग्रेस प्रभारी पीसी चाको ने इस्तीफे की पेशकश की
  • कांग्रेस महासचिव गुरुदास कामत ने पार्टी के सभी पदों से दिया इस्तीफा
  • कुलभूषण जाधव की मां ने बेटे की सजा के खिलाफ पाकिस्तान में दायर की याचिका
  • दिल्ली एमसीडी में बीजेपी की जीत पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दी बधाई
  • दिल्ली बीजेपी कार्यालय के बाहर लगी होर्डिंग- सुकमा शहीदों को समर्पित है यह जीत
  • दिल्ली में केजरीवाल के घर पहुंचे "आप" के बड़े नेता, हो रही है मीटिंग
  • एमसीडी चुनाव के रूझान के बाद मनोज तिवारी ने केजरीवाल का इस्तीफा मांगा
  • सेंसेक्स रिकॉर्ड 30,030 प्वाइंट के साथ खुला, निफ्टी 9,328.75
  • सुकमा हमले पर गृह मंत्रालय ने CRPF से मांगी रिपोर्ट
  • दिल्ली एमसीडी चुनाव की काउंटिंग शुरू
  • शशिकला के गिरफ्तार भतीजे दिनाकरन की आज कोर्ट में होगी पेशी
  • दिल्ली एमसीडी चुनाव की काउंटिंग कुछ देर में शुरू होगी
  • पूर्व मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता बच्चा पाठक का निधन

Share On

Home | 10-Jan-2017 11:04:14 AM
आज पिता से हुई सुलह, कल प्रियंका से होगी बात



 

दि राइजिंग न्‍यूज ब्‍यूरो

10 जनवरी, लखनऊ।

पुत्र के आगे समर्पण की मुद्रा हार चुके मुलायम सिंह यादव ने आज सुलह के रास्‍ते पर तेजी से कदम आगे बढ़ा दिये हैं। मुलायम सिंह यादव और सीएम अखिलेश यादव के बीच आज डेढ़ घंटे से ज्‍यादा चली बैठक में एक पिता और पुत्र के बीच गिले-शिकवे तो दूर हुए ही इस बात पर भी राजनीतिक सहमति बनी कि सिर पर चुनाव को देखते हुए हमें एकसाथ जीत के लिए प्रचार अभियान को बढ़ाना होगा।

ये भी पढ़ें

जब डिबेट में एक लड़का लड़की से हारा तो लड़की का किया ये हाल देखें वीडियो

रिजर्व बैंक ने नोटबंदी पर किया ये बड़ा खुलासा  

जहां तक सवाल रहा अखिलेश के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष पद को छोड़ने का तो फिलहाल इस पर दोनों के बीच केन्‍द्रीय चुनाव आयोग में दाखिल हुए कागजी दावों को लेकर कुछ संवैधानिक तकनीकी पर सहमति बनी है। सूत्रों के मुताबिक, पिता और पुत्र आने वाले समय में संयुक्‍त प्रेसवार्ता कर चुनावी रणनीति का खुलासा करेंगे। हालांकि इस बिन्‍दु पर अभी बात अटकी ही कही जाएगी।


बैठक के बाद अखिलेश

इस बैठक के बाद बाहर निकले अखिलेश यादव मुस्कुराते चेहरे के साथ आत्‍मविश्‍वास से भरे नजर आए। उन्होंने बाहर खड़े अपने समर्थकों का न केवल गर्मजोशी के साथ अभिवादन स्‍वीकार किया बल्कि हाथ बढ़ाने वालों से हाथ भी मिलाया। कार्यकर्ताओं से अखिलेश ने कहा कि अब चिंता न करेंऔर अपने-अपने क्षेत्र में जाकर चुनाव के प्रचार अभियान को तेज करें। 

 ये भी पढ़ें

भारतीय रेल यात्री कृपया ध्यान दें! ये खबर आप के लिए

जब कब्र के पास लटका दिखा भूत”, देखें ये हैरतअंगेज वीडियो

आयोग में दोनों गुटों के दावे

मालूम हो कि मुलायम और अखिलेश दोनों गुटों ने ही केन्‍द्रीय चुनाव आयोग के समक्ष खुद को समाजवादी पार्टी का राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष होने और सायकिल चुनाव चिन्‍ह पर दावा ठोंका है। मुलायम गुट का दावा है कि प्रो. राम गोपाल यादव ने बीती एक जनवरी को लखनऊ में जो विशेष आपात अधिवेश बुलाया था वह असंवैधानिक है। ऐसे में इस अधिवेशन में अखिलेश को उराष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष बनाने के निर्णय की भी कोई अहमियत नहीं है। नतीजतन मुलायम ही समाजवादी पार्टी के राष्‍ट्रीय अध्‍यक्ष हैं।

 

अखिलेश के दावे में दाम
दूसरी ओर अखिलेश गुट ने सायकिल चुनाव चिन्‍ह पर दावा ठोंकते हुए तर्क दिया है कि चूंकि अखिलेश यादव अब पार्टी के राष्ट्रीय अध्‍यक्ष हैं और बहुमत उनके साथ है सो मुलायम सिंह यादव गुट के दावे को मायने नहीं रखते। अखिलेश यादव के समर्थन में 206 एमएलएऔर 60 एमएलसी के हलफनामे भी चुनाव आयोग में सोंपे गये हैं। प्रो. राम गोपाल यादव ने भी कहा कि सपा के 90 प्रतिशत नेता, कार्यकर्ता अखिलेश के साथ हैं।

 

कल प्रियंका संग मीटिंग

इस बीच खबर यह है कि कल अखिलेश यादव की कांग्रेस उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी के साथ एक अहम बैठक है। इस बैठक में पार्टी के वरिष्‍ठ नेता गुलाम नवी आजाद, कांग्रेस प्रदेश अध्‍यक्ष राज बब्‍बर और सीएम पद की दावेदार शीला दीक्षित तो होंगी ही, प्रियंका गांधी भी खासतौर से इस मीटिंग में शामिल होंगी। मालूम हो कि प्रियंका गांधी को यूपी इलेक्शन-2017 की एक प्रमुख रणनीतिकार के रूप में देखा जा रहा है।

 

 

Share On

अन्य खबरें भी पढ़ें

Comment Form is loading comments...

खबरें आपके काम की

 


 

Newsletter

Click Sign Up for subscribing Our Newsletter



   Photo Gallery   (Show All)

शहर के कार्यक्रम एवं शिक्षा से जुड़ीं ख़बरें