• पंजाब के पूर्व डीजीपी केपीएस गिल का दिल्‍ली के अस्‍पताल में निधन
  • उरी में भारतीय सेना पर हमले की कोशिश नाकाम, मारे गए पाक की BAT के दौ सैनिक
  • ईवीएम चुनौती के लिए आवेदन का आज आखिरी दिन
  • झारखंड के डुमरी बिहार स्‍टेशन पर नक्‍सलियों का हमला, मालगाड़ी के इंजन में लगाई आग
  • शेयर बाजार की नई ऊंचाई, सेंसेक्‍स पहली बार पहुंचा 31,000 के पार
  • चीन सीमा के पास मिला तीन दिन से लापता सुखोई-30 का मल‍बा, पायलेट का पता नहीं
  • जेवर हाइवे गैंगरेप: पीडि़ता ने बदला अपना बयान
  • राहुल गांधी कल जाएंगे सहारनपुर पीडि़तों से मिलने
  • कल घोषित हो सकते हैं सीबीएसई के 12वीं के नतीजे
  • सहारनपुर हिंसा: गृह सचिव ने लोगों के घर-घर जाकर माफी मांगी
  • पीएम मोदी ने आज देश के सबसे लंबे पुल का उद्घाटन किया
  • बाबरी मस्जिद विध्वंस केस: आडवाणी समेत 6 नेताओं को CBI कोर्ट ने किया तलब

Share On

National | 9-Jan-2017 03:24:30 PM
हरियाणा निकाय चुनावों में भाजपा की बंपर जीत

  • नोटबंदी के बाद लगातार पांचवां राज्‍य किया फतेह



 

दि राइजिंग न्‍यूज

09 जनवरी, चंडीगढ़।

भाजपा ने हरियाणा में फरीदाबाद नगर निगम और भिवानी नगर परिषद के चुनावों में जोरदार जीत दर्ज की है। पार्टी ने फरीदाबाद में 40 में से 30 सीटों पर कब्‍जा जमाया। कांग्रेस यहां पर एक भी सीट नहीं जीत पाई।

10 सीटों पर निर्दलीय उम्‍मीवार विजयी रहे हैं। यहां पर पहली बार भाजपा का मेयर बनने जा रहा है। चुनाव में केंद्रीय मंत्री कृष्‍णपाल सिंह गुर्जर के बेटे भी खड़े हुए थे। उन्‍होंने नौ हजार वोट से जीत दर्ज की है।

चुनावों के दौरान बसपा ने भी उम्‍मीदवार उतारे थे। पिछली बार उसके तीन पार्षद बने थे लेकिन इस बार उसे एक भी सीट नहीं मिली। चुनावों के दौरान बसपा और निर्दलीयों ने नोटबंदी का मुद्दा उठाया था।

फरीदाबाद में आठ जनवरी को निकाय चुनाव हुए थे। वहीं भिवानी में भाजपा ने सिंबल दिए बिना प्रत्‍याशी मैदान में उतारे। इसके चलते उसे फायदा हुआ और उसने 31 में से 18 वार्ड जीते। कांग्रेस को केवल एक और इनेलो को दो सीटों से संतोष करना पड़ा।

हरियाणा के मुख्‍यमंत्री मनोहर लाल खट्टर और केंद्रीय मंत्री कृष्‍णपाल सिंह गुर्जर ने जीत का श्रेय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दिया है। भाजपा नेताओं का कहना है कि नतीजे मोदी सरकार के नोटबंदी के फैसले पर मुहर है। इससे पहले भाजपा ने चंडीगढ़ नगर निगम चुनाव में भी जबरदस्त जीत दर्ज की थी।

भाजपा ने चंडीगढ़ में कुल 26 सीटों में से 20 सीटों पर जीत दर्ज की थी। नोटबंदी के ऐलान के बाद से भाजपा को सभी चुनावों में जीत हासिल हुई है। उसने यहां से पहले गुजरात, महाराष्‍ट्र, राजस्‍थान और मध्य प्रदेश में भी निकाय चुनाव फतेह किए थे।

इसमें बड़ी बात यह भी है कि सभी निकाय चुनावों में भाजप की जीत का अंतर बड़ा रहा है। कांग्रेस के लिए कहीं से भी अच्‍छी खबर नहीं मिली। हालांकि यह भी एक तथ्‍य है कि जिन भी राज्‍यों में निकाय चुनाव हुए हैं वहां पर भाजपा का राज है।

इसी साल होने जा रहे पांच राज्‍यों के विधानसभा चुनावों से पहले भाजपा के लिए यह उत्‍साहजनक खबर है। हालांकि नोटबंदी के फैसले पर जनता का रुख क्‍या है यह पांच राज्‍यों के चुनावों से पता चलेगा। पंजाब, गोवा, उत्‍तराखंड, उत्‍तर प्रदेश और मणिपुर में चुनावों की शुरुआत फरवरी से होने जा रही है। 11 मार्च को इन चुनावों के नतीजे आएंगे।

पंजाब और गोवा में भाजपा सत्‍ता में है। नोटबंदी के बाद यह पहले बड़े चुनाव है। भाजपा नोटबंदी और सर्जिकल स्‍ट्राइक को इन चुनावों में मुद्दा बना रही है। वहीं विपक्ष नोटबंदी से हुर्इ परेशानी को भुनाना चाहेगा। इन राज्‍यों के चुनाव नतीजे नरेंद्र मोदी के नेतृत्‍व वाली केंद्र सरकार के आधे कार्यकाल पर जनमत की तरह होगा।

 

Share On

अन्य खबरें भी पढ़ें

Comment Form is loading comments...

खबरें आपके काम की

 


 



   Photo Gallery   (Show All)
किसके दिल में बाबा साहेब का ज्यादा सम्मान ? बिना जूते के योगी या सैंडिल पहने मायावती। फोटो - गौरव बाजपेई
किसके दिल में बाबा साहेब का ज्यादा सम्मान ? बिना जूते के योगी या सैंडिल पहने मायावती। फोटो - गौरव बाजपेई

शहर के कार्यक्रम एवं शिक्षा से जुड़ीं ख़बरें