• पंजाब के पूर्व डीजीपी केपीएस गिल का दिल्‍ली के अस्‍पताल में निधन
  • उरी में भारतीय सेना पर हमले की कोशिश नाकाम, मारे गए पाक की BAT के दौ सैनिक
  • ईवीएम चुनौती के लिए आवेदन का आज आखिरी दिन
  • झारखंड के डुमरी बिहार स्‍टेशन पर नक्‍सलियों का हमला, मालगाड़ी के इंजन में लगाई आग
  • शेयर बाजार की नई ऊंचाई, सेंसेक्‍स पहली बार पहुंचा 31,000 के पार
  • चीन सीमा के पास मिला तीन दिन से लापता सुखोई-30 का मल‍बा, पायलेट का पता नहीं
  • जेवर हाइवे गैंगरेप: पीडि़ता ने बदला अपना बयान
  • राहुल गांधी कल जाएंगे सहारनपुर पीडि़तों से मिलने
  • कल घोषित हो सकते हैं सीबीएसई के 12वीं के नतीजे
  • सहारनपुर हिंसा: गृह सचिव ने लोगों के घर-घर जाकर माफी मांगी
  • पीएम मोदी ने आज देश के सबसे लंबे पुल का उद्घाटन किया
  • बाबरी मस्जिद विध्वंस केस: आडवाणी समेत 6 नेताओं को CBI कोर्ट ने किया तलब

Share On

National | 9-Jan-2017 11:43:00 AM
पहल: भारतीय रेल यात्री कृपया ध्यान दें!

  • अगली बार आप कोक शताब्दी” और पेप्‍सी राजधानी” से करेंगे सफर
  • यात्री किराया और माल भाड़ा बढ़ाए बिना अपना रेवेन्यू बढ़ाने की कोशिश




 दि राइजिंग न्‍यूज

09 जनवरी, नई दिल्‍ली।

अगली बार जब आप रेल से यात्रा करें तो आप ट्रेन का नाम कोक शताब्दीऔर पेप्पी राजधानीदेखकर हैरान हो जाएं। लेकिन यह रेलवे की नई पहल है, जिसके जरिए वह यात्री किराया और माल भाड़ा बढ़ाए बिना अपना रेवेन्यू बढ़ाने की कोशिशों में जुटा है।

ये भी पढ़ें

भारतीय रेल यात्री कृपया ध्यान दें! ये खबर आप के लिए

जब कब्र के पास लटका दिखा भूत”, देखें ये हैरतअंगेज वीडियो

रेलवे ट्रेनों और स्टेशनों को किसी ब्रैंड का नाम देने की प्लानिंग कर रहा है। इससे ब्रैंड का नाम उस स्टेशन या ट्रेन के आगे जुट जाएगा और वही उसका पैसा देगा। एक रिपोर्ट के मुताबिक रेलवे का यह प्रपोजल तैयार और अगले हफ्ते होने वाली रेलवे बोर्ड मीटिंग में इसे अप्रूवल मिल सकता है।

इस प्रपोजल के तहत कोई भी ब्रैंड या कंपनी किसी ट्रेन के पूरे मीडिया राइट्स खरीद सकेगी। इसके बाद वह ट्रेन की बोगियों के अंदर और बाहर अपना प्रचार करने को स्वतंत्र होगी। एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया, रेलवे ने विज्ञापन अधिकार को एक-एक कर बेचने के प्लान को ड्रॉप कर दिया है और अब हम पूरी ट्रेन के मीडिया राइट्स देने को तैयार हैं। इसके साथ ही स्टेशनों के राइट्स भी बड़े कॉर्पोरेट प्लेयर्स को दिए जाएंगे।

इस प्लान को तेजी पीएम मोदी की हालिया मीटिंग के बाद मिली जिसमें उन्होंने बिना माल भाड़ा बढ़ाए दूसरे तरीकों जैसे विज्ञापन के जरिए रेलवे का रेवन्यू बढ़ाने को कहा। इस तरह की कोशिश पिछले यूपीए सरकार ने की थी लेकिन तब यह प्लान जमीं पर नहीं उतर पाया। आगामी विधानसभा चुनावों को देखते हुए वित्तीय समस्या से जूझ रहा रेलवे को किराया न बढ़ाने को कहा गया है।

रेलवे ने बिना किराए मे बदलाव किए रेवन्यू को 2000 करोड़ बढ़ाने का महत्वाकांक्षी लक्ष्य रखा हुआ है। पिछले साल रेलवे ने चार ट्रेनों के बाहर विज्ञापन के अधिकार एक कंपनी को दे दिए थे जिससे रेलवे हर साल करीब आठ करोड़ रुपये कमा सकेगा।

 

Share On

अन्य खबरें भी पढ़ें

Comment Form is loading comments...

खबरें आपके काम की

 


 



   Photo Gallery   (Show All)
सुन लो मेरी पुकार... पवनसुत विनती बारम्बार । फोटो - कुलदीप सिंह
सुन लो मेरी पुकार... पवनसुत विनती बारम्बार । फोटो - कुलदीप सिंह

शहर के कार्यक्रम एवं शिक्षा से जुड़ीं ख़बरें