• दिल्ली हाईकोर्ट पहुंचा केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के फर्जी डिग्री का मामला
  • अशोक सिंह हत्या कांड में पूर्व RJD सांसद प्रभुनाथ को आजीवन कारावास
  • मैनचेस्टर हमले के बाद ब्रिटेन में राजनेताओं ने चुनाव अभियान बंद किया
  • आज शाम पांच बजे होगी उत्तर प्रदेश कैबिनेट की बैठक
  • पॉप सिंगर टेलर स्विफ्ट ने मैनचेस्टर हमले के पीड़ितों के प्रति दुख जताया
  • पीएम मोदी ने मैनचेस्टर हमले की निंदा की
  • ब्रिटेन के मैनचेस्टर में धमाका, 20 लोगों की मौत की आशंका
  • टैंकर घोटाले में कपिल मिश्रा से आज पूछताछ कर सकता है एंटी-करप्शन ब्यूरो
  • आज सहारनपुर में जातीय हिंसा से प्रभावित इलाकों का दौरा करेंगी मायावती

Share On

UP | 9-Jan-2017 11:30:44 AM
दंगल के अखाड़े बनते सपा के दफ्तर



 


दि राइजिंग न्‍यूज

कमल दुबे

09 जनवरी, लखनऊ।

समाजवादी पार्टी का दंगल अब नया रूप लेता जा रहा है। पहले राष्ट्रीय अध्यक्ष का ताज बेटे अखिलेश यादव के उतारे जाने और फिर पिता मुलायम सिंह यादव की तरफ से राष्ट्रीय अध्यक्ष के कक्ष में ताला डालकर कर चुनौती दिए जाने के बाद यूपी के जिलों में पार्टी के दफ्तर सपा के इस दंगल का नया अखाड़ा बनने शुरू हो गए हैं। दफ्तरों पर कब्जे को लेकर दोनों के समर्थक आपस में भिड़ रहे हैं।

जानकारों के मुताबिक आगरा मैनपुरी मुरादाबाद फतेहपुर तथा कानपुर देहात में पार्टी दफ्तर पर कब्जे को लेकर मुलायम और अखिलेश यादव समर्थकों के भिड़ने की खबरें हैं। समर्थकों के टकराव में पिता मुलायम सिंह के मुकाबले अखिलेश यादव के समर्थक भारी पड़े रहे है। सूबे की सत्ता पर काबिज होने के कारण प्रशासन का मनोवैज्ञानिक रूप से अखिलेश यादव समर्थकों को फायदा मिल रहा है।

प्रो. रामगोपाल के विवादस्पद अधिवेशन में सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष का ताज मुलायम सिंह यादव के सिर से उतार कर अखिलेश यादव को पहना दिया गया था। राष्ट्रीय अध्यक्ष चुने जाने के बाद अखिलेश यादव समर्थकों ने सपा प्रदेश मुख्यालय में प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव की नेम प्लेट तोड़कर पार्टी दफ्तर पर कब्जा कर लिया था। 

दोनों धड़ों में चल रही तनातनी के बीच मुलायम सिहं यादव ने कल अचानक प्रदेश मुख्यालय में शिवपाल सिंह यादव के साथ पहुंच कर राष्ट्रीय अध्यक्ष के कमरे में ताला डाल दिया था। ताला डालने के बाद मुलायम सिंह यादव दिल्ली रवाना हो गये थे।

प्रदेश मुख्यालय पर कब्जे की सपा के इन दोनों धुरंधरों के कदमो के बाद जिलों में भी तीखी प्रतिक्रिया देखने को मिल रही है। प्रदेश भर में समाजवादी पार्टी के 70 से ज्यादा जिला मुख्यालय तथा क्षेत्रीय दफ्तरों पर कब्जे को लेकर दोनों धड़े सक्रिय हो गये है। चुनाव के दौरान समाजवादी पार्टी में कार्यकर्ताओं के स्तर पर छिड़ी जंग पार्टी को और भी नुकसान पहुंचा सकती है। 

 

Share On

अन्य खबरें भी पढ़ें

Comment Form is loading comments...

खबरें आपके काम की

 


 



   Photo Gallery   (Show All)
मौसम ने बदली करवट............दिन में ही हो गई शाम कुछ इस तरह रहा शहर का नजारा । फोटो - कुलदीप सिंह
मौसम ने बदली करवट............दिन में ही हो गई शाम कुछ इस तरह रहा शहर का नजारा । फोटो - कुलदीप सिंह

शहर के कार्यक्रम एवं शिक्षा से जुड़ीं ख़बरें