• दिल्ली हाईकोर्ट पहुंचा केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के फर्जी डिग्री का मामला
  • अशोक सिंह हत्या कांड में पूर्व RJD सांसद प्रभुनाथ को आजीवन कारावास
  • मैनचेस्टर हमले के बाद ब्रिटेन में राजनेताओं ने चुनाव अभियान बंद किया
  • आज शाम पांच बजे होगी उत्तर प्रदेश कैबिनेट की बैठक
  • पॉप सिंगर टेलर स्विफ्ट ने मैनचेस्टर हमले के पीड़ितों के प्रति दुख जताया
  • पीएम मोदी ने मैनचेस्टर हमले की निंदा की
  • ब्रिटेन के मैनचेस्टर में धमाका, 20 लोगों की मौत की आशंका
  • टैंकर घोटाले में कपिल मिश्रा से आज पूछताछ कर सकता है एंटी-करप्शन ब्यूरो
  • आज सहारनपुर में जातीय हिंसा से प्रभावित इलाकों का दौरा करेंगी मायावती

Share On

UP | 7-Jan-2017 11:38:56 AM
मायावती की चाल ने उड़ाई सपा कुनबे की नींद



 

दि राइजिंग न्‍यूज ब्‍यूरो

07 जनवरी, लखनऊ।

विधानसभा चुनाव की जंग को जीतने के लिए बसपा प्रमुख मायावती की नई सोशल इंजीनियरिंग ने सपा कुनबे की नींद उड़ा दी है। चाहे मुलायम सिंह यादव खेमा हो या फिर अखिलेश यादव का गुट दोनों खासे चिंतित नजर आ रहे हैं। इन्‍हें मुस्लिम वोटों के छिटकने का खतरा सताने लगा है।


बहुजन समाज पार्टी अभी तक अपनी सोशल इंजीनियरिंग में दलित और अपरकास्ट को लेकर चलती रही है। मुसलमान सपा का परंपरागत वोटर रहे है तो दलित बसपा के। इस पर अचानक मायावती ने मुसलमानों को अपनी सोशल इंजीनियरिंग का अहम हिस्सा बना लिया है। बसपा अब अब तक घोषत 200 उम्मीदवरों में 59 मुसलमानों को टिकट दे चुकी है। मुसलमानों को सबसे अधिक टिकट देने का बसपा की तरफ से ऐलान कर चुकी है। मायावती का यही दांव सपा कुनबे को परेशान किए है।


सपा कुनबे के दंगल में अस्तित्व की लड़ाई लड़ रहे मुलायम सिंह यादव और अखिलेश यादव मुसलमानों के परंपरागत वोटों को लेकर बेहत चिन्तित है। इस बचाने के लिये यह कुनबा कुछ बड़े फैसले ले सकता है ताकि मुसलमानों को हाथी की सवारी करने से रोका जा सके। वर्ष 1992 में अयोध्या में विवादित ढ़ांचे के टूटने के बाद से मुसलमानों के वोटों का बड़ा हिस्सा सपा को मिलता आया है लेकिन बदले हालात में सपा के इस परंपरागत वोटरों के बिखरने का खतरा दिख रहा है।


मुस्लिम वोटरों को बनाए रखने के लिए अखिलेश यादव कांग्रेस सहित अन्य दलों के साथ गठबंधन करने की रणनीति पर काम कर रहे हैं। दरअसल यूपी में मुसलमानों का बड़ा वोट उसी को मिलता आया है जो भाजपा को हारने की स्थित में होते है। कुनबे के विवाद के चलते भाजपा के मुकाबले अभी बसपा ही नजर आ रही है। गठबंधन करके अखिलेश यादव प्रदेश के मुसलमानों को यह संदेश देना चाहते है कि भाजपा को सत्ता में आने से सपा रोक सकती है। 

  

 

 

Share On

अन्य खबरें भी पढ़ें

Comment Form is loading comments...

खबरें आपके काम की

 


 



   Photo Gallery   (Show All)
मौसम ने बदली करवट............दिन में ही हो गई शाम कुछ इस तरह रहा शहर का नजारा । फोटो - कुलदीप सिंह
मौसम ने बदली करवट............दिन में ही हो गई शाम कुछ इस तरह रहा शहर का नजारा । फोटो - कुलदीप सिंह

शहर के कार्यक्रम एवं शिक्षा से जुड़ीं ख़बरें