• राहुल गांधी कल जाएंगे सहारनपुर पीडि़तों से मिलने
  • कल घोषित हो सकते हें सीबीएसई के 12वीं के नतीजे
  • सहारनपुर हिंसा: गृह सचिव ने लोगों के घर-घर जाकर माफी मांगी
  • पीएम मोदी ने आज देश के सबसे लंबे पुल का उद्घाटन किया
  • बाबरी मस्जिद विध्वंस केस: आडवाणी समेत 6 नेताओं को CBI कोर्ट ने किया तलब
  • सहारनपुर में हिंसा के बाद धारा 144 लागू, इंटरनेट सेवा पर भी बैन
  • मोदी सरकार के 3 साल के जश्न में सहयोगी मुख्यमंत्रियों को न्योता नहीं- सूत्र
  • मैसूर ब्लास्ट केस में NIA ने फाइल की चार्जशीट

Share On

Ladies Special | 8-Dec-2016 02:49:20 PM
आखिर क्यों है प्रेग्नेंसी में पानी पीना जरूरी, जानें



 

दि राइजिंग न्‍यूज

वैसे तो पानी, शारीरिक और मानसिक सेहत व उसके विकास के लिए बेहद जरूरी है लेकिन अगर आप प्रेग्नेंट हैं तो आपके लिए यह बात और भी लाजमी हो जाती है क्‍योंकि यह आपके बच्चे के ग्रोथ के लिए बहुत जरूरी है।

 

दरअसल, प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाओं के शरीर में हो रहे नए-नए बदलावों और उसकी जरूरतों को पूरा करने के लिए ज्यादा पानी की जरूरत होती है।

 

प्रेग्नेंसी में पानी पीना क्यों है जरूरी

पानी, ब्लड सेल्स के विकास में मददगार होता है। इस दौरान बच्चे को स्वस्थ रखने के लिए यह जरूरी है कि मां के शरीर में पर्याप्त पानी यानी तरल हो। इसके अलावा यह मां के दूध के लिए भी जरूरी है। पानी की कमी के कारण महिलाओं को स्तनपान कराने में भी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है।

 

प्रेग्नेंसी में पानी पीने की कुछ अन्य वजहें भी हैं :

 

नहीं होता डीहाइड्रेशन




प्रेग्नेंट लेडी अगर दिन में आठ से दस ग्लास पानी पीती है तो उसे और उसके बच्चे को डीहाइड्रेशन का खतरा नहीं होता। प्रेग्नेंसी के दौरान पानी की कमी सिर में दर्द, मिचली, मरोड़, हाथ-पैर में सूजन, चक्कर आने जैसी परेशानियों का सबब भी बन सकती है।

 

डिलिवरी का समय




डिलिवरी काफी हद तक इस बात पर निर्भर करती है कि आपने प्रेग्नेंसी के तीसरे महीने से कितना पानी पिया है। दरअसल, कम पानी पीने वाली महिलाओं की डिलिवरी जल्दी होने की आशंका रहती है।

 

डाइजेशन के लिए




प्रेग्नेंसी के दौरान डाइजेशन ठीक से हो इसके लिए पर्याप्त पानी पीना बहुत जरूरी है। उन्हें कब्ज की समस्या नहीं होती। इसके अलावा यह शरीर को ठंडा रखने में भी मददगार होता है।

 

संक्रमण का खतरा नहीं




इस दौरान महिलाओं को संक्रमण का खतरा ज्यादा होता है। खासतौर से यूरिनेरी ट्रैक संक्रमण सबसे ज्यादा होता है। पानी इस तरह के संक्रमण से मां बचाता है।

 

कितना पिएं पानी




प्रेग्नेंसी के दौरान कम से कम आठ से दस ग्लास पानी पीना चाहिए। लगभग तीन लीटर। अगर आपको पानी का टेस्ट पसंद नहीं आता तो उसमें नींबू, शहद आदि डालकर पी सकती हैं।

 

सॉफ्ट ड्रिंक से बनाएं दूरी




शरीर में तरल की कमी सॉफ्ट ड्रिंक से पूरी नहीं की जा सकती। इसलिए इन पर निर्भर न रहें। प्रेग्नेंसी में सॉफ्ट ड्रिंक न पीना ही बेहतर होगा।

 

Share On

अन्य खबरें भी पढ़ें

Comment Form is loading comments...

खबरें आपके काम की

 


 



   Photo Gallery   (Show All)
"जब सांझ ढले तब दिन ढल जाये"  । फोटो - कुलदीप सिंह
"जब सांझ ढले तब दिन ढल जाये" । फोटो - कुलदीप सिंह

शहर के कार्यक्रम एवं शिक्षा से जुड़ीं ख़बरें