• राहुल गांधी कल जाएंगे सहारनपुर पीडि़तों से मिलने
  • कल घोषित हो सकते हें सीबीएसई के 12वीं के नतीजे
  • सहारनपुर हिंसा: गृह सचिव ने लोगों के घर-घर जाकर माफी मांगी
  • पीएम मोदी ने आज देश के सबसे लंबे पुल का उद्घाटन किया
  • बाबरी मस्जिद विध्वंस केस: आज आरोप तय करेगी CBI की स्पेशल कोर्ट
  • सहारनपुर में हिंसा के बाद धारा 144 लागू, इंटरनेट सेवा पर भी बैन
  • मोदी सरकार के 3 साल के जश्न में सहयोगी मुख्यमंत्रियों को न्योता नहीं- सूत्र
  • मैसूर ब्लास्ट केस में NIA ने फाइल की चार्जशीट

Share On

Spiritual | 5-Dec-2016 12:39:09 PM
रुद्राभिषेक करने से भोले करेंगे दुखों को दूर

  • समय और मुहूर्त का देना होता है खास ध्यान
  • धन लाभ और सुख समृद्धि की प्राप्ति होगी



 

आध्‍यात्मिक के लिए


दि राइजिंग न्‍यूज

भगवान शिव हर तरह से अपने भक्तों का कल्याण करते हैं। कहा जाता है कि शिव को रुद्राभिषेक अत्यंत प्रिय है। सामान्य तौर पर शुद्ध जल या फिर गंगाजल से शिव का अभिषेक कराया जाता है, लेकिन विशेष मनोकामना पूरी होने पर या पूरी होने के लिए अलग-अलग चीजों से शिव का रुद्राभिषेक कराए जाने का विधान है। पुराणों में बताया गया है कि रुद्राभिषेक से व्‍यक्ति की पित्र भी तर जाते हैं।

 

दरअसल रुद्राभिषेक करने के लिए समय और मुहूर्त का खास ध्यान दिया जाता है। रुद्राभिषेक के लिए कुछ खास तिथियों का चयन किया जाता है। रुद्राभिषेक अधिकतर लोग घर में करते हैं लेकिन मंदिर में रुद्राभिषेक करना सबसे उत्तम रहता है। रुद्राभिषेक के लिए खास तिथियां बताई गईं हैं जिनमें रुद्राभिषेक करने से मनोकामना की पूर्ति होती है।

 

कृष्णपक्ष की प्रतिपदा, चतुर्थी, पंचमी, अष्टमी, एकादशी, द्वादशी, अमावस्या तिथियां, शुक्लपक्ष की द्वितीया, पंचमी, षष्ठी, नवमी, द्वादशी, त्रयोदशी तिथियों में अभिषेक करना ज्‍यादा फलदायक सिद्ध होगा। इन तिथियों पर रुद्राभिषेक करने से संतान प्राप्ति, धन लाभ और सुख समृद्धि की प्राप्ति होती है।

 

श्रवण मास में रुद्राभिषेक करने से कालसर्प योग, गृहकलेश, व्यापार में नुकसान, अलग-अलग कामों में होने वाली मुश्किलों से छुटकारा मिलता है। इसके अलावा शिवरात्रि-प्रदोष सावन के सोमवार में रुद्राभिषेक कराना बहुत फलदायी होता है। इस आलेख में दी गई जानकारियां धार्मिक आस्थाओं और लौकिक मान्यताओं पर आधारित हैं, जिसे मात्र सामान्य जनरुचि को ध्यान में रखकर प्रस्तुत किया गया है।

 

Share On

अन्य खबरें भी पढ़ें

Comment Form is loading comments...

खबरें आपके काम की

 


 



   Photo Gallery   (Show All)
"जब सांझ ढले तब दिन ढल जाये"  । फोटो - कुलदीप सिंह
"जब सांझ ढले तब दिन ढल जाये" । फोटो - कुलदीप सिंह

शहर के कार्यक्रम एवं शिक्षा से जुड़ीं ख़बरें