Pregnant Actress Neha Dhupia Shares Her Opinion on Pregnancy

दि राइजिंग न्यूज़

नई दिल्ली।

 

दिल्ली-एनसीआर पर ईरानी और अफगानी धूल की चादर छा गई है। लोग खुद को धूल के चैंबर में कैद महसूस कर रहे हैं। सतह बेहद गर्म होने और तेज हवाओं के साथ उड़ती धूल ने वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआइ) को भी गंभीर स्तर पर पहुंचा दिया है।

ऐसा है माहौल

केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के मुताबिक, बुधवार को दिल्ली-एनसीआर में पर्टिकुलेट मैटर-10 (हवा में मौजूद खतरनाक कण) मानकों से 9 गुना ज्यादा यानी आपात स्तर को पार कर 830 माइक्रोग्राम प्रति घनमीटर तक रिकॉर्ड हुआ। पीएम 2.5 भी सामान्य स्तर से 4 गुना ज्यादा रिकॉर्ड किया गया।

 

मौसम विभाग का कहना

मौसम विभाग के वैज्ञानिकों ने धूल का स्रोत ईरान और दक्षिणी अफगानिस्तान व राजस्थान से आई धूल भरी आंधी को बताया है। इन दोनों जगहों से 30 हजार फुट की ऊंचाई तक उठी धूल ने दिल्ली और आसपास के इलाकों को जद में लिया है। 24 घंटों के औसत आधार पर दिल्ली में बुधवार को वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआइ) 445, गुरुग्राम में 488, बुलंदशहर व ग्रेटर नोएडा में 500, जोधपुर में 420, मुरादाबाद में 431 और नोएडा में 340 रिकॉर्ड किया गया। हरियाणा के रोहतक और राजस्थान के जयपुर में हवा बहुत खराब श्रेणी में है। दिल्ली, हरियाणा और यूपी में हवा की गुणवत्ता गंभीर स्तर पर है।

राहत की उम्मीद नहीं

13 जून को दोपहर तीन बजे दिल्ली-एनसीआर की हवा में पर्टिकुलेट मैटर 10 सामान्य मानक 100 माइक्रोग्राम प्रति घनमीटर से पांच गुना ज्यादा रिकॉर्ड हुआ। शाम 7 बजकर 25 मिनट पर करीब 9 गुना ज्यादा 822 माइक्रोग्राम प्रति घनमीटर तक रिकॉर्ड किया गया। ज्यादा महीन और खतरनाक कण पर्टिकुलेट मैटर 2.5 मानक से 4 गुना ज्यादा 230 माइक्रोग्राम प्रति घनमीटर तक रिकॉर्ड किया गया।

 

हफ्ते भर के लिए कमजोर हुआ मानसून

मौसम विभाग ने बुधवार को बताया कि राजस्थान से दक्षिणी-पश्चिमी और पंजाब की ओर से पश्चिमी गर्म हवाएं दिल्ली समेत उत्तर भारत के मैदानी भाग को प्रभावित कर रहे हैं। गर्मी और उमस से फिलहाल राहत की उम्मीद नहीं है।

 

दक्षिण-पूर्व को छोड़कर करीब एक हफ्ते की देरी से मानसून दक्षिण, मध्य और पूर्वी भारत में दस्तक दे सकता है। जम्मू-कश्मीर, उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, पश्चिमी और पूर्वी उत्तर प्रदेश में अगले तीन दिन तक 25 से 30 किलोमीटर गति वाली धूल भरी आंधी की संभावना है। 18 जून तक इन क्षेत्रों में मौसम शुष्क रहेगा।

 

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement