Ali Asgar Faced Molestation in The Getup of Dadi

दि राइजिंग न्यूज़

चंडीगढ़।

 

3 साल के मासूम बेटे को मां ने लातों, घूंसों और चप्पलों से इतना पीटा कि वो अब सदमे में है। इस दरिंदगी का वीडियो देखकर दिल दहल जाएगा। घटना हरियाणा के फतेहाबाद की है। सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ, जिसमें महिला एक बच्चे को जमीन पर गिराकर बेरहमी से पीट रही है। वीडियो में साफ दिख रहा है कि एक मकान की छत पर महिला बच्चे को मारना शुरू करती है। जैसे ही वो एक थप्पड़ मारती है, बच्चा गिर जाता है। फिर वह उसे चप्पल, घूंसों से लातों से मारने लगती है।

 

बताया जा रहा है कि मकान के सामने वाले घर में ही काम कर रहे एक शख्स ने यह वीडियो बनाया और सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया। उस शख्स ने बाल संरक्षण विभाग में भी इसकी खबर पहुंचाई। सूचना को गंभीरता से लेते हुए और वीडियो देखकर बाल संरक्षण अधिकारी सुरजीत बाजिया ने टीम के साथ उस मकान पर छापा मार दिया। जहां मां और बच्चा दोनों मिले।

 

अधिकारी ने बताया कि बच्चे को देखा तो उसकी हालत सही नहीं थी। बच्चे के मां-बाप के पास उसके जन्म प्रमाण पत्र संबंधित दस्तावेज नहीं थे। बच्चे का रखरखाव ठीक ढंग से नहीं हो रहा था, जिससे बच्चा सदमे में है। बच्चे पर चोट के निशान भी पाए गए हैं। जब परिवार से पूछा गया कि बच्चा उनका है तो पहले उन्होंने बच्चे को अपना बताया, लेकिन इससे संबंधित कोई दस्तावेज उनके पास नहीं मिले।

 

बाद में उन्होंने बताया कि करीब 3 माह पहले उन्होंने यह बच्चा पंजाब से गोद लिया है। लेकिन वह इसके भी दस्तावेज नहीं दे सके हैं और बिना कानूनी कार्रवाई के किसी का बच्चा अपने पास रखा हुआ था। अधिकारी ने बताया कि महिला का नाम रेनू जैन है और धर्मशाला रोड पर एक इलेक्ट्रॉनिक्स की दुकान चलाने वाले विनोद जैन की पत्नी है और वीडियो में पिटते हुए दिख रही महिला यही है।

अधिकारी ने बताया कि बच्चे के हालात सही न होने पर टीम बच्चे को अपने साथ बाल कल्याण समिति के कार्यालय में ले आई और उनके हवाले कर दिया। अब बाल कल्याण समिति ही आगे की कार्रवाई करेगी। बाल कल्याण समिति की अध्यक्ष अनीता जोड़ा ने बच्चे का मेडिकल करवाने के आदेश दिए हैं। मेडिकल रिपोर्ट आने के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।

मेडिकल के बाद होगी आगामी कार्रवाई

बाल कल्याण समिति की अध्यक्ष अनीता जोड़ा ने बताया कि बाल संरक्षण अधिकारी एक बच्चे को समिति में लेकर आए थे। उससे परिजनों द्वारा मारपीट का आरोप है। बच्चे की हालत सही नहीं थी, इसलिए उसको मेडिकल के लिए नागरिक अस्पताल भेजा गया है। रिपोर्ट आने के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement