Home National News Robbers Dig Tunnel To Rob Mumbai Bank Of Baroda

अमेरिका ने संबंध खराब किए, वही सुधारे: PAK विदेश मंत्रालय

सीएम अरविंद केजरीवाल का व्यवहार शहरी नक्सली जैसा: मनोज तिवारी

मध्यप्रदेश: आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन पर BJP MLA शैलेंद्र जैन के खि‍लाफ FIR

J-K: करीब 500 परिवारों को सुरक्षित जगह पर भेजा

PNB घोटाला: विक्रम कोठारी के बेटे राहुल को 1 दिन की ट्रांज़िट रिमांड पर भेजा

नवी मुंबई में 50 फीट सुरंग खोद बैंक में घुसे चोर

National | 14-Nov-2017 12:55:07 | Posted by - Admin
   
Robbers Dig Tunnel To Rob Mumbai Bank Of Baroda

दि राइजिंग न्यूज़

मुंबई।

 

महाराष्ट्र के नवी मुंबई की एक बैंक में चोर पचास फीट की सुरंग खोदकर घुसे। लौकर्स और तिजोरी में रखी एक करोड़ की नकदी और जेवरात लेकर फरार हो गए। वाकया बैंक ऑफ बड़ौदा की जुईनगर ब्रांच का है। इसका पता सोमवार को चला। पुलिस के मुताबिक सुबह बैंक के कर्मचारी पहुंचे, तो उन्हें लॉकर और तिजोरी के ताले टूटे हुए मिले। चोरों ने शनिवार-रविवार की छुट्टी के दौरान वारदात को अंजाम दिया।

 

पुलिस जांच में खुलासा हुआ कि चोर पास की एक किराना दुकान से बैंक तक सुरंग खोदकर घुसे थे। किराना दुकान हाल में किराए पर ली गई थी। 50 फीट की सुरंग प्राइवेट लॉकर रूम तक खोदी गई थी। हालांकि, चोर बैंक के मेन सेफ वॉल्ट को नहीं खोल पाए थे। बैंक अधिकारी चोरी का ब्योरा जुटा रहे हैं।

पहले ही बन चुका था प्लान

 

पुलिस फिलहाल बैंक में और आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों के सहारे आरोपियों की पहचान की कोशिश कर रही है। आशंका जताई जा रही है कि चोरी की वारदात अंजाम देने की प्लानिंग पहले बनाई गई होगी। जितनी बड़ी सुरंग खोदी गई है, उसके लिए भी काफी वक्त लगा होगा।

ऐसी चोरी में बैंक जिम्मेदार होता है?

 

ऐसे केस में बैंक के ग्राहकों के लिए चोरी गया सामान वापस पाना आसान नहीं होता है। उन्हें  कोर्ट में यह साबित करना होता कि लॉकर में क्या रखा था। बैंक के नियमों मुताबिक, बैंक सिर्फ लॉकर किराए पर देता है। इसके अंदर क्या रखा गया है, क्या नहीं यह सिर्फ ग्राहक को पता होता है। बैंक कोई क्लेम देने को बाध्य नहीं है।

कैसे होगी भरपाई?

 

एक्सपर्ट्स का कहना है कि कोर्ट के मार्फत क्लेम पाने के लिए पहले शपथ पत्र देकर लॉकर में क्या था यह प्रूफ करना होगा। इसके बाद कोर्ट में सुनवाई चलेगी। यदि ग्राहक के तथ्यों से कोर्ट संतुष्ट हुआ तो बैंक को भुगतान का आदेश दिया जाता है।

"जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555








TraffBoost.NET

Rising Stroke caricature
The Rising News Public Poll





Flicker News

Most read news

 


Most read news


Most read news