Home National News RBI Says Islamic Bank Will Not Open In The Country

पीएम नरेंद्र मोदी आज नवी मुंबई एयरपोर्ट का करेंगे शिलान्यास

केरल: कोच्चि में 5 किलो से ज्यादा के ड्रग्स जब्त, कीमत लगभग 30 करोड़

BJP के नए मुख्यालय का उद्घाटन कार्यक्रम में पहुंचे अमित शाह

त्रिपुरा चुनाव: अगरतला में माणिक सरकार ने डाला वोट

साउथ त्रिपुरा में कई ईवीएम खराब होने की शिकायत, अगरतला में बदले गए 2 EVM

आरबीआइ का बड़ा फैसला, देश में नहीं खुलेगा इस्लामिक बैंक

National | 12-Nov-2017 10:05:07 | Posted by - Admin
   
RBI says Islamic Bank will not Open in the Country

दि राइजिंग न्‍यूज

नई दिल्‍ली।

 

आरबीआइ (भारतीय रिजर्व बैंक) और सरकार ने देश में इस्लामिक बैंकिंग शुरू करने के प्रस्ताव को आगे नहीं बढ़ाने का अहम फैसला लिया है। सूचना का अधिकार (आरटीआइ) कानून के तहत एक सवाल के जवाब में केंद्रीय बैंक ने कहा कि देश में बैंकिंग व वित्तीय सेवाओं का इस्तेमाल करने के लिए देश के सभी नागरिकों को व्यापक व समान मौका मिलता है, जिस पर विचार करते हुए यह फैसला लिया गया है।

 

 

इस्लामिक या शरिया बैंकिंग एक वित्तीय प्रणाली है, जो ब्याज न देने के सिद्धांत पर आधारित है, क्योंकि इस्लाम में ब्याज हराम माना जाता है। भारत में इस्लामिक बैंकिंग शुरू करने के मुद्दे पर आरबीआइ तथा सरकार ने गौर किया।

 

 

आरबीआइ से भारत में इस्लामिक या “ब्याज मुक्त” बैकिंग व्यवस्था के लिए उठाए गए कदमों का विवरण मुहैया कराने के लिए कहा गया था। उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के सभी परिवारों के व्यापक रूप से वित्तीय समावेशन के लिए एक राष्ट्रीय मिशन के रूप में  28 अगस्त, 2014 को “जन धन योजना” की शुरुआत की थी।

 

 

बता दें कि आरबीआइ के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन के नेतृत्व में वित्तीय क्षेत्र में सुधार पर गठित एक कमेटी ने साल 2008 में देश में ब्याज-मुक्त बैकिंग के मुद्दे पर गौर करने की जरूरत पर बल दिया था।

कमेटी ने कहा था कि कुछ मजहब ब्याज देने वाले वित्तीय संस्थान का इस्तेमाल करने से उन्हें रोकते हैं। ब्याज मुक्त बैंकिंग की व्यवस्था न होने से वे बैंकिंग उत्पादों व सेवाओं का इस्तेमाल करने अक्षम हैं, क्योंकि उनका धर्म उन्हें ब्याज वाली व्यवस्था का इस्तेमाल करने से रोकता है।

 

 

बाद में, केंद्र सरकार के निर्देश पर आरबीआइ के तहत एक अंतर-विभागीय समूह (आइडीजी) का गठन किया गया, जिसने देश में ब्याज मुक्त बैंकिंग व्यवस्था शुरू करने के मुद्दे के कानूनी, तकनीकी तथा नियामक पहलू पर विचार करते हुए अपनी रिपोर्ट सरकार को सौंप दी।

"जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555








TraffBoost.NET

Rising Stroke caricature
The Rising News Public Poll





Flicker News

Most read news

 


Most read news


Most read news