Home National News President Kovind Approves Amendment On Minimum Wage

ग्वालियरः ट्रेन में लगी आग में 33 डिप्टी कलेक्टर ट्रेनिंग करके लौट रहे थे, यात्री सुरक्षित

दिल्ली: लैंडफिल साइट्स को लेकर NGT ने सुनवाई जुलाई तक टाली

ओडिशा: ब्रह्मोस मिसाइल का सफलता परीक्षण किया गया

J-K: अरनिया में गोलीबारी बंद, इलाके में यातायात बहाल

उन्नाव रेप केस: 30 मई को होगी मामले की अगली सुनवाई

अब न्यूनतम वेतन नहीं दिया तो...

National | Last Updated : May 09, 2018 12:18 PM IST

President Kovind Approves Amendment On Minimum Wage


दि राइजिंग न्यूज़

नई दिल्ली।

 

दिल्ली विधानसभा से पारित न्यूनतम वेतन (दिल्ली) संशोधन विधेयक को राष्ट्रपति की मंजूरी मिल गई है। अब दिल्ली में तय न्यूनतम मजदूरी नहीं देने वालों पर कानून का शिकंजा कसेगा। नियोक्ता के लिए 20 हजार रुपए जुर्माने के साथ तीन साल तक की सजा का भी प्रावधान है। राजधानी में न्यूनतम वेतन 13,896 रुपए है।

 

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि कई महीने बाद विधेयक को मंजूरी मिली है। इससे ऐसे नियोक्ताओं पर सख्त कार्रवाई संभव होगी, जो न्यूनतम वेतन नहीं देते हैं। दिल्ली सरकार ऐसे लोगों पर कानूनन सख्त कार्रवाई करेगी।

इससे पहले बीते साल अगस्त महीने में दिल्ली विधानसभा ने विधेयक पास किया था। उस वक्त सरकार का कहना था कि अभी दिल्ली में न्यूनतम वेतन न देने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई के प्रावधान नहीं थे। कानून का उल्लंघन करने वालों पर सख्त कार्रवाई सुनिश्चित करने के लिए विधेयक लाना पड़ा।

 

इससे पहले केवल 500 रुपए जुर्माने और छह महीने तक की सजा का ही प्रावधान था। राजधानी में अकुशल मजदूरों के लिए 13,896, अर्ध कुशल के लिए 15,296, कुशल के लिए 16,858 रुपए मासिक वेतन निर्धारित है।

इसके अलावा दसवीं फेल के लिए 15,296, दसवीं पास के लिए 16,858 और ग्रेजुएट एवं ज्यादा शिक्षित के लिए 18,332 रुपए प्रति माह न्यूनतम वेतन है। दिल्ली कैबिनेट ने 25 फरवरी 2017 को यह दरें लागू की थीं।



" जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555 "


Loading...


Flicker News

Loading...

Most read news


Most read news


rising@8AM


Loading...