Golmal Starcast Will Be in Cameo in Ranveer Singh Simba

दि राइजिंग न्‍यूज

नई दिल्‍ली।

 

आज सुबह दिल्‍ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने मोदी सरकार पर हमला बोला है। केजरीवाल ने केंद्र सरकार द्वारा सिंगल ब्रांड रिटेल में 100 फीसद एफडीआइ के फैसले का विरोध किया है। दिल्ली सीएम ने ट्वीट किया कि पिछले एक साल में व्यापारियों पर तीन मार की गई हैं, जिनमें नोटबंदी फिर जीएसटी और अब एफडीआइ का फैसला है। केजरीवाल ने लिखा कि छोटे और मंझले व्यापारियों के लिए तो जैसे मरने की नौबत आ गई है।

 

 

वहीं बीजेपी के पूर्व नेता केएन गोविंदाचार्य ने सिंगल ब्रांड केंद्र सरकार की एफडीआइ नीति पर सवाल खड़े किए हैं। गोविंदाचार्य का कहना है कि इन नीतियों को लागू करने की वजह आर्थिक सुधार हैं, लेकिन इसके परिणाम गंभीर होंगे। गोविंदाचार्य का कहना है कि एफडीआइ को लागू करने में राजनीति के बजाए, आर्थिक सुधारों की अहम भूमिका है। उन्होंने कहा है कि भारत के सामने ब्राजील का भी उदाहरण है, लेकिन इससे सबक नहीं लिया जा रहा है।

 

 

यशवंत सिन्हा ने खुदरा कारोबार में 100 फीसद एफडीआइ को मंजूरी देने और विभिन्न क्षेत्रों में एफडीआइ नियमों को उदार बनाने को देश के लिए घातक बताया है। सिन्हा ने कहा है कि बीजेपी के नेतृत्व वाली सरकार ने इस मामले पर यू-टर्न लिया है।

 

 

किसान संघर्ष समिति के आंदोलन में शामिल होने मध्य प्रदेश पहुंचे सिन्हा ने कहा, बीजेपी ने विपक्ष में रहते हुए खुदरा क्षेत्र में 100 फीसद एफडीआइ का घोर विरोध किया था। अब केंद्र में सत्ता में आने के बाद बीजेपी सरकार ने इसे लागू कर दिया है।

 

 

क्या है सरकार का फैसला?

केन्द्र सरकार ने विदेशी निवेश को बढ़ावा देने के लिए एफडीआइ नीति में अहम परिवर्तन का ऐलान किया है। केन्द्रीय कैबिनेट ने सिंगल ब्रांड रिटेल ट्रेडिंग में ऑटोमैटिक रूट के तहत 100 फीसद एफडीआइ का फैसला लिया है। वहीं ऑटोमैटिक रूट के तहत कंस्ट्रक्शन सेक्टर में भी 100 फीसद एफडीआइ अब संभव है। इसके साथ ही सरकार ने एयर इंडिया में भी विदेशी कंपनी को 49 फीसदी हिस्सेदारी लेने के लिए मंजूरी दे दी है।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement