Ali Asgar Faced Molestation in The Getup of Dadi

दि राइजिंग न्‍यूज

नई दिल्ली।

 

मोदी सरकार ने नौकरीपेशा लोगों को करारा झटका दे दिया है। ईपीएफओ ने पीएफ (प्रोविडेंट फंड) की दरें घटा दी हैं। ईपीएफओ ने चालू वित्त वर्ष के लिए पीएफ की दरें घटाकर 8.55 फीसदी कर दी है। पहले पीएफ की दर 8.65 फीसदी थी। पीएफ पर मिल रहे ब्याज में कमी आने से लोगों की जेब में कम पैसा आएगा।

श्रम मंत्री बंडारू दत्तात्रेय ने कहा कि ब्याज दर को घटाकर 8.55 फीसदी करने का सुझाव दिया गया था, जिसे आज ट्रस्टी बोर्ड की बैठक में स्वीकार किया गया और पीएफ खातों पर ब्याज दरों में कटौती कर दी गई है। अब आपकी इनकम पर कटने वाले प्रोविडेंट फंड पर मिलने वाला ब्याज कम हो जाएगा।

ये लगातार दूसरा मौका है जब पीएफ पर ब्याज दरों में कटौती की गई है। ईपीएफओ ने 2016-17 के लिए 8.65 फीसदी की ब्याज दर की घोषणा की थी। यह 2015-16 में 8.8 फीसद थी और अब साल 2017-2018 के लिए घटकर 8.55 फीसदी पर आ गई है।

हालांकि चालू वित्त वर्ष में 8.65 फीसदी की ब्याज दर को बनाए रखने के लिए ईपीएफओ ने एक्सचेंज ट्रेडेड फंड (ईटीएफ) में अपने निवेश का एक हिस्सा इसी महीने 2886 करोड़ रुपये में बेच दिया है। जिसके बाद कहा जा रहा था कि पीएफ खातों की ब्याज दर 8.65 फीसदी पर बरकरार रखी जा सकती है, लेकिन ये सच नहीं हुआ।

हाल के दिनों में सरकार ने कई छोटी बचत योजनाओं पर ब्याज की दरें घटाई हैं और इसके लिए स्मॉल सेविंग स्कीम्स में निवेश करना पहले जैसा फायदे का सौदा नहीं रह गया है।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement