Home National News Latest Updates Over Indian Army Operations In JK And LOC

कुशीनगर के विधायक रजनीकांत मणि त्रिपाठी को मिली धमकी

J-K: पाकिस्तान की ओर से फायरिंग में अब तक 6 नागरिक घायल

मद्रास हाईकोर्ट ने तूतीकोरिन में स्टरलाइट प्लांट के विस्तार पर लगाई रोक

दिल्लीः कैबिनेट की बैठक शुरू, तेल की कीमतों पर हो सकता है फैसला

कर्नाटकः शपथ ग्रहण के खिलाफ BJP के विरोध-प्रदर्शन में शामिल हुए येदियुरप्पा

भारत के जवाब से घबराया पाक, अब लगाएगा DGMO मीटिंग की गुहार

National | Last Updated : Jan 16, 2018 12:11 PM IST

Latest Updates over Indian Army Operations in JK and LOC


दि राइजिंग न्यूज़

नई दिल्ली।

 

बॉर्डर और LoC पर भारतीय सेना के करारे जवाब से पाकिस्तानी खेमे में भूचाल आ गया है। सोमवार को फायरिंग में अपने सात सैनिकों के मारे जाने के बाद अब पाकिस्तान दोनों देशों के DGMOs की मीटिंग बुलाने पर विचार कर रहा है। इसका मकसद एलओसी पर अमन बहाली करना है। खास बात यह है कि 4 साल बाद यह पहला मौका होगा जब दोनों देशों के DGMOs आमने-सामने बातचीत कर सकते हैं।

आखिकार जागी पाक सरकार

सोमवार को पाकिस्तान ने बॉर्डर पर सीजफायर वॉयलेशन किया था। भारतीय सेना ने इसका बेहद करारा जवाब दिया। भारतीय सेना पाकिस्तान के 7 सैनिकों को मार गिराया। हालांकि, पाकिस्तान की तरफ से 4 सैनिकों के मारे जाने की ही पुष्टि की गई।

 

पाकिस्तान के अखबार “द डॉन” ने मंगलवार सुबह एक रिपोर्ट पब्लिश की। इसमें कहा गया है कि एलओसी पर भारत की सख्त कार्रवाई के बाद पाकिस्तान सीनेट की डिफेंस कमेटी ने एक इमरजेंसी मीटिंग की। इसमें भारत से डायरेक्टर जनरल्स ऑफ मिलिट्री ऑपरेशन्स (DGMOs) की मीटिंग बुलाने की अपील करने पर विचार किया गया। एक रिपोर्ट में ये भी कहा गया है कि पाकिस्तान DGMO लेवल की गुजारिश मंगलवार दोपहर तक कर सकता है।  सीनेटर मुशाहिद हुसैन पाकिस्तान की डिफेंस कमेटी ऑफ सीनेट के चेयरमैन हैं। उन्होंने मीडिया के सवालों के जवाब नहीं दिए।

पहले 14 अब 4 साल बाद इस तरह की मीटिंग

अखबार के मुताबिक, चार साल पहले दोनों देशों के DGMOs की वाघा बॉर्डर पर मीटिंग हुई थी। इसके पहले 14 साल पहले यह मीटिंग हुई थी। हालांकि, दोनों देशों के DGMOs हॉटलाइन के जरिए एक-दूसरे से बातचीत करते रहे हैं। लेकिन, आमने सामने दोनों देशों के मिलिट्री अफसरों की मुलाकात चार साल बाद ही होगी। पाकिस्तान का आरोप है कि भारत ने पिछले साल 1881 बार सीजफायर वॉयलेशन किया। इसमें उसके 87 लोग मारे गए।  पाकिस्तानी सेना के एक अफसर ने आरोप लगाया कि भारतीय सेना ने पाकिस्तान में कम्युनिकेशन की तमाम लाइनों को तबाह कर दिया है।

पिछले साल भी पाकिस्तान ने ही की थी पहल

पिछले साल जून में दोनों देशों के DGMO की हॉटलाइन पर बातचीत हुई थी। बातचीत की पहल पाकिस्तान की तरफ से हुई थी। भारत के डीजीएमओ जनरल एके. भट्ट ने तब साफ कर दिया था-भारत बॉर्डर पर शांति चाहता है। लेकिन जब तक पाक सेना घुसपैठियों की मदद बंद नहीं करती, माकूल जवाब दिया जाता रहेगा।

 

दरअसल, पाकिस्तानी सेना ने बॉर्डर इलाके में स्कूलों पर फायरिंग की थी। इसके बाद भारतीय सेना ने पाकिस्तान की 7 बॉर्डर पोस्ट्स को उड़ा दिया था। इसके बाद पाकिस्तान डिफेंसिव मोड पर आ गया था। उसने मीटिंग की गुहार लगाई थी।



" जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555 "


Loading...


Flicker News

Loading...

Most read news


Most read news


rising@8AM


Loading...