Kareena Kapoor Will Work With SRK and Akshay Kumar in 2019

दि राइजिंग न्यूज़

नई दिल्ली।

 

मलेशिया में पनाह लेने वाले विवादित इस्लामिक धर्मगुरू जाकिर नाइक पर वहां की सरकार का रुख सख्त हो गया है। मलेशिया के डिप्टी प्राइम मिनिस्टर ने कहा कि अगर भारत उसके प्रत्यर्पण (Extradition) की मांग करता है तो हम उसे उनके हवाले कर देंगे। नाइक पर युवाओं को आतंकवाद के लिए उकसाने और हेट स्पीच देने का आरोप है। NIA ने नाइक के खिलाफ केस दर्ज किया है। वह काफी वक्त से मलेशिया में है लेकिन पिछले महीने ही उसे पब्लिकली देखा गया। इसके बाद भारत ने कहा कि वो नाइक को भारत भेजने की मांग करेगा।

मलेशिया के डिप्टी पीएम ने क्या कहा?

 

मलेशिया के डिप्टी पीएम अहमद जाहिद हामिदी ने बुधवार को कहा- अगर भारत सरकार नाइक के प्रत्यर्पण की मांग करती है तो हम उसे उनके हवाले कर देंगे। फिलहाल, भारत की तरफ से ऐसी कोई रिक्वेस्ट नहीं की गई है।

 

जाहिद ने कहा कि नाइक ने अब तक मलेशिया की नागरिकता नहीं मांगी है। जाहिद मलेशिया के एक सांसद गोविंद सिंह के सवाल का जवाब दे रहे थे। जिन्होंने नाइक को मलेशियाई नागरिकता दिए जाने संबंधी मीडिया रिपोर्ट्स पर सवाल पूछा था।

जाकिर ने मलेशिया में कोई कानून नहीं तोड़ा

 

एक सवाल के जवाब में जाहिद ने कहा- नाइक ने मलेशिया में कोई कानून नहीं तोड़ा। उस पर टेरेरिज्म को बढ़ावा देने का आरोप हैं। हम साफ कर देना चाहते हैं कि मलेशिया हर मजहब का सम्मान करते हैं। हमने उसके चैनल पर आतंकवाद से जुड़ी कोई चीज नहीं देखी।

फॉरेन मिनिस्ट्री ने क्या कहा था?

 

एक्टर्नल अफेयर्स मिनिस्ट्री के स्पोक्सपर्सन रवीश कुमार ने कुछ दिन पहले कहा था, "हमारी लीगल प्रॉसेस पूरी होने के करीब है। इसके पूरा होते ही हम मलेशिया सरकार से रिक्वेस्ट करेंगे। अगले कुछ हफ्तों में पता लग जाएगा कि हमारी रिक्वेस्ट का नेचर क्या होगा।"

मलेशिया ही क्यों गया जाकिर नाइक?

 

सिंगापुर के राजारत्नम स्कूल ऑफ इंटरनेशनल स्टडीज के राशाद अली का कहना है- मलेशियाई सरकार ने जाकिर को पनाह इसलिए दी क्योंकि वो यहां के मलय मुसलमानों के बीच मशहूर है। उसके विवादित पहलुओं को ध्यान में नहीं रखा गया।

 

उन्होंने कहा, "अगर मलेशिया सरकार नाइक को देश से निकाल देती तो उसकी मजहबी भरोसे पर सवाल उठने लगते।"

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll