Box Office Collection of Raazi

दि राइजिंग न्यूज़

नई दिल्ली।

 

अंतरराष्ट्रीय सीमा और एलओसी पर पाकिस्तान जिस तरीके से बीएसएफ के जवानों को स्नाइपिंग के जरिए निशाना बनाने की कोशिश में लगा रहता है उससे बीएसएफ को हमेशा दो चार होना पड़ता है। बीएसएफ इस स्नाइपिंग का जवाब बेहतर तरीके से देने के लिए अपने कुछ कमांडोज को इजरायल के स्नाइपर कमांडोज के साथ ट्रेनिंग और प्रैक्टिस करवाने का फैसला किया है।

गृह मंत्रालय को भेजा गया है प्रपोजल

बीएसएफ सूत्रों की माने तो इसका एक प्रपोजल गृह मंत्रालय को भी भेजा गया है। गृह मंत्रालय की लिखित मंजूरी मिलने के बाद बीएसएफ की एक छोटी टीम सबसे पहले इजराइल जाएगी जहां पर 6 से 11 जुलाई के बीच होने वाले स्नाइपिंग कंपटीशन और स्नाइपिंग सेमिनार में भाग लेगी। सूत्रों के मुताबिक सब कुछ बेहतर रहा तो आने वाले समय में BSF कमांडो की दूसरी टीम को इजरायल भेजकर इजरायल के निशानेबाजों से खास तरीके की ट्रेनिंग दिलवाएगी।

आतंकी स्नाइपर्स को 1 लाख देता है रुपये

सूत्रों के मुताबिक इन स्नाइपर्स को पीओके में मौजूद ट्रेनिंग कैम्प में पाक की "स्पेशल ऑपरेशन टीम" के साथ ट्रेंड किया गया है। जानकारी के मुताबिक स्नाइपर्स के तौर पर पाकिस्तान की रेगुलर आर्मी तो रहती ही है। इसके साथ ही आतंकी संगठन लश्कर, जैश और हिजबुल के आतंकियों को भी स्नाइपर्स के तौर पर भर्ती किया गया है। खुफिया सूत्रों ने ये जानकारी दी है कि इन स्नाइपर्स को पाकिस्तान की मुजाहिद बटालियन के साथ कई जगहों पर तैनात किया। सूत्रों के अनुसार पाकिस्तान की आर्मी इन आतंकी स्नाइपर्स को शूटिंग के बदले में 50 हजार से 1 लाख तक की रकम भी देता है।

 

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll