Box Office Collection of Raazi

दि राइजिंग न्यूज़

आउटपुट डेस्क।

 

साल 1949 में 14 सितंबर के दिन, हिंदी भाषा को राजभाषा का दर्जा मिला और तब से लेकर आज तक, हर साल यह दिन हिंदी दिवस के तौर पर मनाया जाता है। अब सवाल यह उठता है कि क्या हमारे पाठकों को पता है कि हिंदी दिवस आखिर मनाया क्यों जाता है? शायद नहीं, आज इस मौके पर हम आपको यही बताने जा रहे हैं की यह क्यों मनाया जाता है।  इसके पीछे एक वजह है। दरअसल साल 1947 में जब देश अंग्रेजी हुकूमत से आजाद हुआ तो उसके सामने भाषा को लेकर सबसे बड़ा सवाल था।

भारत में सैकड़ों भाषाएं और बोलियां बोली जाती है। 6 दिसंबर 1946 में आजाद भारत का संविधान तैयार करने के लिए एक समिति का गठन हुआ। संविधान सभा ने 26 नवंबर 1949 को संविधान के अंतिम प्रारूप को मंजूरी दे दी। आजाद भारत का अपना संविधान 26 जनवरी 1950 से पूरे देश में लागू तो हुआ लेकिन भारत की कौन सी राष्ट्रभाषा चुनी जाएगी ये मुद्दा काफी अहम था।

 

काफी सोच विचार के बाद हिंदी और अंग्रेजी को नए राष्ट्र की भाषा चुना गया। संविधान सभा ने देवनागरी लिपी में लिखी हिंदी को अंग्रजों के साथ राष्ट्र की आधिकारिक भाषा के तौर पर स्वीकार किया था। 14 सितंबर 1949 को संविधान सभा ने एक मत से निर्णय लिया कि हिंदी ही भारत की राजभाषा होगी।

देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू ने कहा कि इस दिन के महत्व देखते हुए हर साल 14 सितंबर को हिंदी दिवस मनाया जाए। बता दें पहला हिंदी दिवस 14 सितंबर 1953 में मनाया गया था।

 

अग्रेजी भाषा को लेकर हुआ विरोध

 

14 सितंबर 1949 को संविधान सभा ने एक मत से निर्णय लिया कि हिंदी ही भारत की राजभाषा होगी। अंग्रेजी भाषा को हटाए जाने की खबर पर देश के कुछ हिस्सों में विरोध प्रर्दशन शुरू हो गया था। तमिलनाडू में जनवरी 1965 में भाषा विवाद को लेकर दंगे हुए थे।

जनमानस की भाषा हैं हिंदी

 

साल 1918 में महात्मा गांधी ने हिन्दी साहित्य सम्मेलन में हिन्दी भाषा को राष्ट्रभाषा बनाने को कहा था। इसे गांधी जी ने जनमानस की भाषा भी कहा था।

हिंदी भाषा के कुछ फैक्ट्स

 

  • हिन्दी शब्द फारसी शब्द “हिन्द” से आया है, जिसका मतलब “सिंधु नदी की भूमि” है11वीं सदी में जब तुर्कों ने पंजाब और गंगा के मैदानी इलाकों पर हमला किया, तब हिन्द शब्द का इस्तेमाल यहां रहने वाले लोगों के लिए किया गया था

  • साल 1881 में बिहार पहला राज्य बना, जिसने हिन्दी को आधिकारिक भाषा के रूप में चुना था

  • भारतीय संविधान ने 14 सितंबर 1949 में हिन्दी को राजभाषा का दर्जा मिला था दिया। इसलिए हर साल हम 14 सितंबर को हिन्दी दिवस के रूप में मनाते हैं।

  • 2015 के आंकड़ों के अनुसार हिंदी भाषा दुनिया में सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषा बन चुकी है।

  • विश्‍व हिंदी दिवस 10 जनवरी को मनाया जाता है।  इसकी शुरुआत महाराष्‍ट्र के नागपुर से 1975 में हुई थी। वर्ष 2006 में इसे आधिकारिक दर्जा और वैश्विक पहचान मिली।

  • भारत में सबसे ज्यादा बोली जाने वाली भाषा हिंदी है। हमारे देश के 77% लोग हिंदी लिखते, पढ़ते, बोलते और समझते हैं। हिंदी उनके कामकाज का भी हिस्‍सा है।

  • हिंदी का नमस्‍ते शब्‍द ऐसा शब्‍द माना जाता है जिसे सर्वाधिक बार बोला जाता है।  एक अनुमान के अनुसार हर पांच में से एक व्‍यक्ति हिंदी में इंटरनेट का उपयोग करता है।

  • हिन्दी भाषा सीखने के लिहाज से अन्य भाषाओं की तुलना में आसान और दिलचस्प है इसमें शब्दों का वही उच्चारण होता है, जो लिखा जाता है

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll