Akshay Kumar and Priyadarshan Donated to Save Flood Affected People in Kerala

दि राइजिंग न्यूज़

नई दिल्ली।

 

मंडावली में भूख से तीन बच्चियों की मौत के मामले में एक बड़ा सच सामने आया है। मंगल सिंह की बड़ी बेटी मंडावली फाजलपुर स्थित नगर निगम स्कूल नंबर-2 में तीसरी कक्षा में पढ़ती थी। शिक्षिकाओं ने दावा किया है कि सोमवार को मानसी स्कूल आई थी यहां उसने स्कूल में मिड डे मील खाया भी था। आपको बता दें कि दिल्ली के मंडावली मामले भुखमरी की शिकार तीनों ही बच्चियों की मां वीना को शायद अहसास भी नहीं था कि उसकी बच्चियां हमेशा के लिए उसे छोड़कर जा चुकी हैं। पुलिस ने बुधवार को जब बच्चियों का शव उसे सौंपा तो उसने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी।

 

पड़ोसियों की मदद से गाजीपुर शमशान घाट पर उनका अंतिम संस्कार भी कर दिया गया। गुरुवार को पुलिस वीना को मीडियाकर्मियों से बात नहीं करने दे रही थी। पूछने पर वीना बस इतना बता रही थी कि उसकी बच्चियों ने कई दिनों से खाना नहीं खाया था। वीना ने बताया कि बच्चियों को उल्टी, दस्त और खांसी की शिकायत थी। स्थानीय लोगों का कहना था कि शनिवार जब से वीना बच्चों को लेकर पंडित चौक स्थित नारायण यादव के मकान में आई थी, तभी से वह किसी से बातचीत नहीं की थी। वह अपने कमरे में कैद रहती थी।

वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि मेडिकल बोर्ड ने भी शुरूआती पोस्टमार्टम रिपोर्ट में तीनों बच्चियों की मौत का कारण भूख ही माना है। शुक्रवार को औपचारिक पोस्टमार्टम रिपोर्ट मिल सकती है। बच्चियों का विसरा जांच के लिए भेज दिया गया है। इधर, मंगलवार सुबह काम की तलाश में जाने की बात कर निकले बच्चियों के पिता मंगल का कोई सुराग नहीं मिला है। पुलिस उसकी तलाश कर रही है।

 

वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों का कहना है कि मजिस्ट्रेट जांच के बाद दोषी पाए जाने वाले लोगों के खिलाफ कार्रवाई की जा सकती है। वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि जांच के दौरान मंगल के रिक्शा लूटे जाने की कोई भी शिकायत पूर्वी जिले में नहीं मिली है। मंगल शराब पीने का आदी था। फिलहाल आसपास के ठेकों पर उसकी तलाश की जा रही है। सीसीटीवी फुटेज भी खंगाली जा रही है। पुलिस को मंगल के पश्चिम बंगाल स्थित गांव व जिले का पता नहीं लग सका है। ऐसे शख्स की तलाश की जा रही जो उसके गांव का पता बता सके। वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि फिलहाल वीना बात करने की स्थिति में नहीं है।

मंगल सिंह की बड़ी बेटी मंडावली फाजलपुर स्थिटी नगर निगम स्कूल नंबर-2 में तीसरी कक्षा में पढ़ती थी। शिक्षिकाओं ने बताया कि सोमवार को मानसी स्कूल आई थी। उसे स्कूल में उसने मिड डे मील खाया भी था। टीचर्स ने बताया कि जुलाई माह में महज दो दिन मानसी स्कूल आई थी। वह पढ़ने लिखने में होशियार थी। इसके अलावा वह खेल-कूद की गतिविधियों में हिस्सा लेती थी। टीचर्स ने बताया कि शरीर से वह बेहद कमजोर भी थी। अक्सर मंगल स्कूल आकर बच्ची को खूब पढ़ाने की बात करता था। घटना के बाद से पूरे मंडावली के लोग हैरान हैं।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Public Poll