Home National News Hariyana CM Manohar Lal Khattar Statement Over Pollution In Delhi

J-K: बांदीपुरा ऑपरेशन में 1 जवान शहीद

J-K: बांदीपुरा मुठभेड़ में आतंकी लखवी का भांजा ढेर

दयाल सिंह कॉलेज का नाम बदलने पर सिसोदिया बोले, अतीत प्रेम से बीमार है केंद्र

दाऊद की संपत्ति की नीलामी पर कंपनी को कोई एतराज़ नहीं: छोटा शकील

सोनिया गांधी ने 20 नवंबर को कांग्रेस वर्किंग कमेटी की बैठक बुलाई

कोई सरकार हवा को बेहतर नहीं बना सकती

National | 13-Nov-2017 12:50:38 | Posted by - Admin
   
Hariyana CM Manohar Lal khattar Statement over Pollution in Delhi

दि राइजिंग न्यूज़

नई दिल्ली।

 

दिल्ली- एनसीआर में वायु प्रदूषण के मुद्दे पर राज्य के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने पंजाब और हरियाणा के मुख्यमंत्रियों को चिट्ठी लिखकर सहयोग मांगा था। इसपर हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने केजरीवाल को खत लिखकर जवाब दिया। जवाब में खट्टर ने कहा है कि कोई भी संस्था, व्यक्ति या सरकार हवा की गुणवत्ता बेहतर नहीं कर सकते।

 

अरविंद केजरीवाल ने दिल्ली- एनसीआर में प्रदूषण को लेकर हरियाणा और पंजाब में किसानों द्वारा खेतों में पराली जलाए जाने को लेकर दोनों राज्यों के मुख्यमंत्रियों से मिलने का समय मांगा था। पंजाब के मुख्यमंत्री ने प्रदूषण के लिए केंद्र सरकार को जिम्मेदार बताते हुए साफ कह दिया कि पंजाब सरकार के पास किसानों को पराली के बदले मुआवजा देने के लिए पैसे नहीं हैं। अब हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने भी अरविंद केजरीवाल को उनके खत का जवाब दिया है।

 

 

इस खत में खट्टर ने पंजाब पर ही ठीकरा फोड़ दिया और अरविंद केजरीवाल और उनकी सरकार पर ही सवाल उठा दिया। केजरीवाल को लिखे खत में खट्टर ने कहा कि पराली जलाए जाने का आरोप केजरीवाल राजनीतिक फायदे के लिए कर रहे हैं। खट्टर ने खत के जरिए सवाल उठाया कि दिल्ली में 40000 हेक्टेयर में पराली जलाए जाने के मसले पर केजरीवाल ने क्या कदम उठाए हैं? खट्टर का दावा है कि उनकी सरकार ने 39 करोड़ रुपये खर्च कर इस मसले पर कदम उठाए हैं जबकि पंजाब में 1 रुपया भी खर्च नहीं किया।

 

इतना ही नहीं इस खत में मनोहर लाल खट्टर ने अरविंद केजरीवाल को कहा कि वह 13 और 14 नवंबर को दिल्ली में मौजूद रहेंगे जिस दरमियान मुख्यमंत्री केजरीवाल उनसे मुलाकात कर सकते हैं। लेकिन अरविंद केजरीवाल के दफ्तर के सूत्रों का दावा है कि लगातार फोन पर संपर्क साधने के बाद भी मुख्यमंत्री खट्टर से मिलने के लिए उन्हें समय नहीं मिल पा रहा है। जाहिर है प्रदूषण पर लड़ने की बजाए राजनीतिक दल और राज्यों के मुख्यमंत्री आपस में लड़ने में व्यस्त हैं और ऐसे में दिल्ली के साथ-साथ एनसीआर, पंजाब और हरियाणा में रहने वाली जनता भी जहरीले धुएं में सांस लेने को मजबूर है।

"जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555



संबंधित खबरें



HTML Comment Box is loading comments...

Content is loading...




TraffBoost.NET

Rising Stroke caricature
The Rising News Public Poll


What-Should-our-Attitude-be-Towards-China


Photo Gallery
गोमती तट पर दीप आरती करती महिलाएं। फोटो- अभय वर्मा



Flicker News

Most read news

 


Most read news


Most read news


sex education news