Home National News Former Chairman Of Syndicate Bank Took 1.25 Crore Bribe

J&K: दक्षिण कश्मीर और जम्मू के कई इलाकों में भारी बर्फबारी

फीस पर निजी स्कूलों की मनमानी रोकने के लिए AAP विधायकों की बैठक

उदयपुर: शंभूलाल के समर्थक हिंदू संगठनों के कार्यकर्ताओं ने पुलिस पर किया पथराव

नीतीश को तेजस्वी का चैलेंज, विकास किया है तो दिखाएं रिपोर्ट

आधार मामले पर सुप्रीम कोर्ट कल सुनाएगा फैसला

1.25 करोड़ की रिश्‍वत ले चुके हैं सिंडिकेट बैंक के पूर्व चेयरमैन!

National | 04-Dec-2017 11:20:32 | Posted by - Admin
   
Former Chairman Of Syndicate Bank Took 1.25 Crore Bribe

दि राइजिंग न्यूज़

नई दिल्ली।

 

सीबीआइ ने सिंडिकेट बैंक के पूर्व चेयरमैन एसके जैन पर 2014 में कथित रूप से सवा करोड़ रुपये रिश्वत लेने का आरोप लगाया है। आरोप है कि निलंबित जैन ने प्रकाश इंडस्ट्रीज लिमिटेड के दो करोड़ डॉलर के विदेशी वाणिज्यिक ऋण के प्रस्ताव को मंजूरी दिलाने के एवज में बिचौलिये चार्टर्ड अकाउंटेंट से रिश्वत ली थी। सीबीआइ ने जैन को 2014 में उसके एक रिश्तेदार से रिश्वत के 50 लाख रुपये बरामद करने के बाद गिरफ्तार किया था।

 

एजेंसी ने दावा किया था कि एक अन्य कंपनी भूषण स्टील से यह राशि रिश्वत के रूप में ली गई थी। सीबीआई ने भूषण स्टील और प्रकाश इंडस्ट्रीज लिमिटेड से रिश्वत लेने के मामले में जैन के खिलाफ दो मामले दर्ज किए थे। हालांकि दोनों ही कंपनियों ने इस मामले में अपनी संलिप्तता से इनकार किया है।

पटियाला हाउस स्थित विशेष अदालत के समक्ष हाल ही में दाखिल आरोप पत्र में सीबीआइ ने प्रकाश इंडस्ट्रीज लि. (पीआइएल) के सीएमडी वेद प्रकाश अग्रवाल, कंपनी के सलाहकार विपुल अग्रवाल, चार्टर्ड अकाउंटेंट पवन बंसल और जैन के रिश्तेदार विनीत गोधा पर आपराधिक साजिश रचने और भ्रष्टाचार का आरोप लगाया है। जांच के दौरान सीबीआइ ने दावा किया कि रिश्वत की 1.25 करोड़ की रकम जैन को पीआईएल के बिचौलिये चार्टर्ड अकाउंटेंट ने दी थी।

 

2020 में जैन को रिटायर होना था

आरोप पत्र में कहा गया है कि बिचौलिये के तौर पर चार्टर्ड अकाउंटेंट ने सिंडिकेट बैंक की मदद से प्रकाश इंडस्ट्रीज के 20 मिलियन अमेरिकी डॉलर का ऋण प्रस्ताव पास करवाने में लगा था।

 

सीबीआइ ने यह भी दावा किया कि जांच के दौरान पता चला कि बंसल ने भोपाल में गोधा के जरिये एसके जैन को सवा करोड़ रुपये दिए।

 

 

एजेंसी ने कहा कि सिंडिकेट बैंक के पूर्व चेयरमैन सह प्रबंध निदेशक के ठिकानों पर छापे के दौरान उसे 21 लाख नकद और 1.68 करोड़ के सोने के अलावा 63 लाख के फिक्ड डिपॉजिट के दस्तावेज भी मिले हैं।

 

एसके जैन को जुलाई, 2013 में पांच साल के लिए सिंडिकेट बैंक का चेयरमैन सह प्रबंध निदेशक नियुक्त किया गया था। वह देश के युवा सीएमडी में से एक थे और उनकी सेवानिवृत्ति 2020 में होनी थी। हालांकि केंद्रीय वित्त मंत्रालय ने सीबीआइ की रिपोर्ट मिलने के बाद जैन को निलंबित कर दिया।

"जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555








TraffBoost.NET

Rising Stroke caricature
The Rising News Public Poll





Flicker News

Most read news

 


Most read news


Most read news




sex education news