Anil Kapoor Will be Seen in The Character of Shah jahan in Next Project

दि राइजिंग न्यूज़

नई दिल्ली।

 

भारत और चीन के बीच पिछले साल हुए डोकलाम विवाद के मुद्दे पर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज ने बड़ा बयान दिया है। बुधवार को लोकसभा की कार्यवाही के दौरान सुषमा ने कहा कि डोकलाम अब कोई मुद्दा नहीं है, ये विवाद पहले ही सुलझ चुका है। सुषमा ने कहा कि मुझे समझ नहीं आ रहा है कि बार-बार इस मुद्दे को क्यों उठाया जा रहा है।

 

बता दें कि सुषमा स्वराज एक सांसद के सवाल का जवाब दे रही थी। उन्होंने कहा कि सरकार की कूटनीतिक परिपक्वता से सुलझा गया है। उन्होंने कहा कि जो विवाद है वह मुख्य रूप से भूटान और चीन के बीच है, जिसमें भारत का कोई रोल नहीं है। विदेश मंत्री ने कहा कि डोकलाम को लेकर जो मामला था, वह सिर्फ फेस ऑफ साइट का था। जो पिछले साल सुलझ गया था।

राहुल लगातार साधते रहे हैं निशाना

आपको बता दें कि अभी अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान ही कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी डोकलाम विवाद का जिक्र किया था। राहुल गांधी ने डोकलाम विवाद को मोदी सरकार की नाकामी बताया था।

 

चीन ने बताई अपनी उपलब्धि

अभी कुछ दिन पहले ही चीन सरकार ने डोकलाम में कथित रूप से 'भारतीय सेना के अतिक्रमण' से निपटने को साल 2017 की अपनी छह बड़ी कूटनीतिक उपलब्ध‍ियों में गिनाया था। चीन के विदेश मंत्रालय के नीति नियोजन विभाग द्वारा प्रकाशित आधिकारिक रिकॉर्ड 'चीन के विदेशी मामले 2018' में साल 2017 के दौरान चीन के कूटनीतिक कदमों की आधिकारिक समीक्षा और दुनिया के बारे में चीन के दृष्ट‍िकोण को प्रकाशित किया गया है।

क्या था डोकलाम विवाद?

गौरतलब है कि सिक्किम सीमा सेक्टर के पास डोकलाम में भारत और चीनी सेना करीब 73 दिन तक आमने-सामने थीं। यह गतिरोध तब शुरू हुआ था जब इस इलाके में चीनी सेना द्वारा किए जाने वाले सड़क निर्माण कार्य को भारतीय सैनिकों ने रोक दिया। हालांकि, पीएम मोदी के चीन दौरे से पहले इस विवाद को सुलझा लिया गया था। 28 अगस्त, 2017 को डोकलाम विवाद सुलझाया गया था।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement