Rani Mukerji to Hoist the National flag at Melbourne Film Festival

दि राइजिंग न्‍यूज

पटना।

 

कांग्रेस पार्टी की अनुशासनहीनता कम होती नहीं दिख रही और इसका एक उदाहरण बिहार में हुई बैठक है। यहां प्रदेश अध्यक्ष पद से हटाए गए कांग्रेस नेता अशोक चौधरी ने कांग्रेस प्रतिनिधि सम्मेलन का बहिष्कार किया है। अशोक चौधरी बैठक छोड़कर अपने समर्थकों के साथ बाहर निकले और समर्थकों के साथ मारपीट का आरोप भी लगाया। इस दौरान कुछ समर्थकों के कपड़े भी फटे हुए थे।

 

 

अशोक चौधरी के बैठक में पहुंचने पर हंगामा हो गया। अशोक के समर्थकों और विरोधियों में जमकर नारेबाजी होने लगी। दोनों गुट एक दूसरे के खिलाफ नारेबाजी कर रहे थे। अशोक चौधरी ने आरोप लगाया कि डेलीगेट्स की लिस्ट जानबूझकर बदली गई है और दूसरी पार्टियों से आए लोगों को पैसा लेकर डेलीगेट बनाया गया। उन्होंने कहा कि पार्टी को तोड़ने की कोशिश की जा रही है, मैं इसकी शिकायत राहुल गांधी से करुंगा।

 

गौरतलब है कि ब्लॉक लेवल के डेलीगेट्स ही प्रदेश अध्यक्ष का चुनाव करते हैं, वहीं चौधरी का आरोप है कि लिस्ट को फर्जी तरीके से बदला गया ताकि मनमुताबिक अध्यक्ष पद का चुनाव किया जा सके।

 

 

बता दें कि बिहार में महागठबंधन टूटने के बाद से कांग्रेस में चल रही उठापटक की गाज आखिरकार अशोक चौधरी पर गिरी थी। कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी ने अशोक चौधरी को बिहार कांग्रेस अध्यक्ष पद से हटा दिया था। उन पर पार्टी में फूट डालने के आरोप लग रहे थे।

 

 

ये भी जानकारी सामने आ रही थी कि कांग्रेस के 27 विधायकों में से 18 विधायक पार्टी छोड़कर जेडीयू में शामिल होने के लिए तैयार बैठे हैं। विधायकों को जेडीयू में ले जाने के आरोप अशोक चौधरी पर ही लग रहे थे। जिसके बाद अशोक चौधरी समेत बिहार कांग्रेस के दूसरे नेताओं को पार्टी हाई कमान ने दिल्ली तलब किया था।

 

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll