Mahi Gill Regrets Working in Salman Khan Film

दि राइजिंग न्‍यूज

मुंबई।

 

मुंबई ट्रैफिक पुलिस का ऐसा शर्मनाक चेहरा सामने आया है जो दिल को झकझोर कर रख दे। ट्रैफिक पुलिसकर्मी ने एक निजी कार को टो कर लिया जिसमें एक बीमार महिला अपने सात महीने के बच्चे को दूध पिला रही थी। घटना शुक्रवार शाम उत्तर-पश्चिम के उपनगर मलाड (पश्चिम) की व्यस्त एस वी रोड की है।

घटना का वीडियो एक स्थानीय नागरिक ने बनाया था जिसे महिला का पति बताया जा रहा है। यह वीडियो शनिवार को सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है।

 

 

घटना को गंभीरता से लेते हुए मुंबई के संयुक्त आयुक्त (ट्रैफिक) अमितेश कुमार ने पुलिस उपायुक्त-पश्चिम (डीसीपी-पश्चिम) को तुरंत जांच का आदेश दिया है। जानकारी के मुताबिक आरोपी पुलिसकर्मी को सस्पेंड कर दिया गया है।

 

दरअसल, राखी नाम की महिला अपने सात महीने के बच्चे के साथ सफेद कार में बैठी हुई थी कि तभी एक टो वैन ने अचानक कार को उठाकर ले जाना शुरू कर दिया। उसने पुलिसकर्मी से अनुरोध किया कि वह टो न करें। ट्रैफिक पुलिसकर्मी का नाम शशांक राणे है, जिसने ड्यूटी के दौरान अपने नाम का बिल्ला नहीं पहना था। बिल्ला न पहनना महाराष्ट्र पुलिस के नियमों के खिलाफ है।

 

 

इससे पहले, पुलिसकर्मी ने मुस्कुराकर अपने नाम की पुष्टि की और महिला से गाड़ी को टो करने से पहले वाहन से उतरने का अनुरोध भी किया, लेकिन महिला ने अपने बच्चे की नर्सिंग करने और खुद को अस्वस्थ बताकर गाड़ी से उतरने से मना कर दिया।

 

महिला ने खिड़की से एक चिकित्सा विवरण दिखाया था और वीडियोग्राफर को बताया कि वह बीमार है और अपने भूखे बच्चे को स्तनपान करा रही है, जो वीडियो में दिखाई दे रहा था। महिला ने दावा किया कि वहां खड़े दो अन्य वाहनों को पुलिस ने नहीं उठाया और उनकी कार को उसकी हताशा सुने बिना उठा लिया।

 

यहां देखें वीडियो-

 

(सौजन्‍य से: संजीवनी टुडे)

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll