Sonam Kapoor to Play Batwoman

दि राइजिंग न्यूज़

नई दिल्ली।

 

एआइएमआइएम के मुखिया असदुद्दीन ओवैसी ने कांग्रेस-भाजपा पर एक साथ हमला बोलते हुए कहा कि दोनों ही पार्टियां जातीय ध्रुवीकरण करने की कोशिश कर रही हैं। ओवैसी ने इस दौरान अंबेडकर का भी जिक्र किया।

 

ओवैसी ने कहा कि क्या अंबेडकर ने हमें यही रास्ता दिखाया था, कि कोई कहे कि वह “जनेऊ धारी हिंदू” है और कोई बोले कि वह हिंदू होने के साथ ओबीसी भी है, या कोई बोले कि वह जैन होने के साथ-साथ हिंदू भी है। क्या स्वतंत्रता सैनानियों ने इसलिए ही अपनी कुर्बानी दी थी?

ओवैसी ने बीजेपी-कांग्रेस से सवाल पूछते हुए कहा कि दोनों दलित और आदिवासियों में क्या संदेश देना चाहती हैं? कि दोनों कमतर हैं या ये लोग अपने आपको महान बताना चाहते हैं?

 

मोदी सरकार के नारे “सबका साथ सबका विकास” और दोनों पार्टियों द्वारा की जाने वाली धर्मनिरपेक्षता की बात को भी ओवैसी ने झूठा बताया और कहा कि यह सब सहन नहीं किया जाएगा।

क्या है मामला?

 

दरअसल, ओवैसी का यह बयान उस विवाद के बाद आया जिसमें राहुल गांधी को “गैर हिंदू” कहा जा रहा था। दरअसल, कल राहुल गांधी सोमनाथ मंदिर के दर्शन करने गए थे। वहां एक रजिस्टर है जिसमें आने वाले गैर हिंदू धर्म के लोगों को एंट्री करनी होती है, वहीं जो हिंदू हैं उन्हें साइन नहीं करना होता, वह बिना एंट्री के मंदिर में जा सकते हैं। बावजूद इसके रजिस्टर में राहुल गांधी का नाम लिखा गया था। अबतक यह तो साफ नहीं है कि नाम राहुल ने खुद लिखा था या फिर किसी और ने, लेकिन विवाद गहरा गया।

 

बाद में कांग्रेस ने इसपर सफाई भी दी कि राहुल हिंदू ही नहीं बल्कि जनेऊ धारी हिंदू हैं। ऐसे में ओवैसी ने उस वक्त को याद किया जब-जब बीजेपी और कांग्रेस ने उनपर सांप्रदायिक होने का आरोप लगाया और कहा कि वह सिर्फ मुसलमानों के हितों की बात करते हैं।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Loading...

Public Poll