Akshay Kumar Gold And John Abraham Satyameva Jayate Box Office Collection Day 2

दि राइजिंग न्यूज़

नई दिल्ली।

 

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह इन दिनों अपने सहयोगी दलों के नेताओं के साथ लगातार मुलाकात करके एनडीए के कुनबे को संभालने में जुटे हुए हैं। बुधवार को शाह अपने रुठे हुए सहयोगी दल शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे से मुलाकात के बाद आज अकाली दल को साधने चंडीगढ़ पहुंच रहे हैं।

 

अमित शाह गुरुवार को चंडीगढ़ में अकाली दल के अध्यक्ष प्रकाश सिंह बादल और उनके बेटे सुखबीर सिंह बादल से मुलाकात करेंगे। इस मुलाकात के जरिए पंजाब की ताजा राजनीतिक हालत और 2019 के लोकसभा चुनाव की तैयारियों पर चर्चा हो सकती है। बीजेपी अध्यक्ष और बादल की मुलाकात दोपहर साढ़े 12 बजे होगी। इसके बाद शाह पार्टी कार्यालय में बीजेपी कार्यकर्ताओं के साथ बैठक करेंगे। शाम साढ़े 6 बजे गुरुद्वारा जाएंगे।

गौरतलब है कि 2019 लोकसभा चुनाव में नरेंद्र मोदी को सत्ता में आने से रोकने के लिए विपक्षी दल आपसी मतभेदों को भुलाकर एकजुट हो रहे हैं। जबकि बीजेपी के सामने सबसे बड़ी चुनौती दूसरे दलों को जोड़ने से ज्यादा अपने सहयोगियों को साधकर रखने में है।

 

देश के 4 लोकसभा और 10 विधानसभा उपचुनाव के नतीजों के बाद जिस तरह से एनडीए के सहयोगी दलों ने एक के बाद एक बीजेपी नेतृत्व के खिलाफ अपनी नाराजगी जतानी शुरू की है। इससे बाद से पार्टी अध्यक्ष अमित शाह सहयोगी दलों के नेताओं के साथ मुलाकात कर रहे हैं। इस कड़ी में 3 जून को लोक जनशक्ति पार्टी के अध्यक्ष और केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान और उनके बेटे चिराग पासवान से अमित शाह ने दिल्ली में मुलाकात की थी।

बता दें कि महाराष्ट्र के पालघर उपचुनाव को लेकर शिवसेना और बीजेपी में टकराव हुआ था उसके साथ कई अन्य मुद्दों पर गठबंधन में जिस तरह से दूरियां बढ़ी हैं। उसे पाटने के लिए बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह बुधवार को मुंबई पहुंचे और शाम 6 बजे मातोश्री जाकर शिवसेना प्रमुख उद्धव ठाकरे से मुलाकात की। माना जा रहा है कि दोनों नेताओं के बीच आने वाले समय में कुछ मुलाकातें और हो सकती हैं। हालांकि बुधवार को मुलाकात से पहले शिवसेना ने सामना में लिखा था कि 2019 में वे अकेले चुनाव में उतरेगी।

जो मित्र दि राइजिंग न्यूज की खबर सीधे अपने फोन पर व्हाट्सएप के जरिए पाना चाहते हैं वो हमारे ऑफिशियल व्हाट्सएप नंबर से जुडें  7080355555

दि राइजिंग न्यूज़

Suggested News

Advertisement

Public Poll